पीलीभीत में चलती है ‘एजुकेशन एक्सप्रेस’, जानिए कौन हैं पैसेंजर और क्या है इसकी खासियत

0
47


रिपोर्ट – सृजित अवस्थी, पीलीभीत

पीलीभीत: यूपी के सरकारी स्कूलों की बदहाली की तो आपने कई तस्वीरें देखी होंगी और पढ़ी होंगी, लेकिन अब प्रदेश के सरकारी स्कूलों के हालात कुछ शिक्षकों के प्रयासों से धीरे-धीरे बदलने लगे हैं. इसका जीता जागता उदाहरण है पीलीभीत के पूरनपुर इलाके में स्थित खासपुर कंपोजिट विद्यालय. जो इस समय बच्चों और भिभावकों के साथ-साथ सरकार के विकास कार्यों की लिस्ट में भी अपनी हाजिरी जमाए हुए है. तो चलिए आपको भी बताते हैं कि क्या खासियत है खासपुर के खास स्कूल की.

एक आइडिया ने एजुकेशन एक्सप्रेस बना दिया

स्कूल में बतौर शिक्षक तैनात श्रीकृष्ण ने NEWS18 LOCAL से खास बातचीत की. इस दौरान उन्होंने बताया कि करीब 2 साल पहले स्कूल की हालत काफी खराब थी. बच्चों को पढ़ाने के लिए बाहर ही साफ-सफाई करवाकर पढ़ाया जाता था. स्कूल में अपने बच्चों के एडमिशन कराने के लिए भी गिने-चुने लोग ही आते थे. ऐसे में 2 साल पहले जैसे ही विद्यालय में रंग-पेंट के कार्य का बजट आया. स्कूल स्टाफ को स्कूल के हालात सुधारने की धुन सवार हो गई. सभी ने मिलकर एक निर्णय लिया कि क्यों ना कक्षाओं को एक रेलगाड़ी का रूप दे दिया जाए. बस फिर क्या था इंटरनेट से थोड़ी बहुत रिसर्च कर जानकारी जुटाई और फिर पास के ही पेंटर चैन बाबू की मदद से स्कूल के भवन को रेलगाड़ी की शक्ल दे डाली.

जानिए क्या कहा बच्चों ने ?

एजुकेशन एक्सप्रेस से सबसे अधिक अगर कोई प्रभावित हुआ है तो वो हैं यहां पढ़ने वाले बच्चे. जिन्हें अब स्कूल आने में मजा आता है. खासपुर कंपोजिट विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों का कहना है कि ट्रेन की तरह दिखने के कारण हमें ऐसा लगता है कि हम स्कूल या क्लासरूम में नहीं बल्कि ट्रेन में सवार होकर पढ़ाई कर रहे हैं

मंत्री असीम अरुण भी कर चुके हैं तारीफ

बीते दिनों योगी सरकार के मंत्री (स्वतन्त्र प्रभार ) असीम अरुण पीलीभीत दौरे पर आए थे. इस दौरान उन्होंने सरकार की उपलब्धि गिनाईं थीं.कार्यक्रम के दौरान अधिकारियों द्वारा दी गई प्रेजेंटेशन के वक्त इस विद्यालय की तस्वीर ने उनका ध्यान खींचा था. उन्होंने इस विद्यालय के शिक्षक श्रीकृष्ण को एक प्रशस्ति पत्र भी दिया है.

Tags: Pilibhit news, Uttar pradesh news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here