पूर्व बाहुबली विधायक सुनील पांडेय को आया धमकी भरा कॉल, शख्स ने कहा- 50 पेटी दो वरना टपका देंगे

0
42


बाहुबली और पूर्व विधायक सुनील पांडे से किसी बदमाश ने फोन कर 50 लाख की रंगदारी मांगी है.

एक बार समता पार्टी से और तीन बार जदयू (JDU) से विधायक (MLA) रह चुके हैं बाहुबली सुनील पांडे को आज धमकी भरा फोन आया है. कॉल करने वाले ने पांडे से 50 लाख रुपये की रंगदारी (Extortion) मांगी है. रंगदारी नहीं देने पर 72 घंटों के अंदर जान से मारने (Killing) की धमकी दी है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 12, 2021, 9:11 PM IST

आरा. जदयू (JDU) के पूर्व विधायक (Ex- MLA) और भोजपुर के तरारी विधानसभा से चार बार विधायक रह चुके बाहुबली सुनील पांडेय (Sunil Pandey) को आज दोपहर करीब तीन बजे एक धमकी भरा कॉल आया है. कॉल करने वाले व्यक्ति ने पूर्व विधायक से 50 लाख रुपये की रंगदारी (Extortion) मांगी है.

व्यक्ति ने रंगदारी न देने पर पूर्व विधायक को 72 घंटे के भीतर जान से मारने की धमकी भी दी है. विधायक के पर्सनल मोबाइल पर धमकी भरा ये कॉल मंगलवार दोपहर करीब तीन बजे आया है, जिसके बाद से सुनील पांडेय के समर्थक भौचक्का हैं. हालांकि पूर्व विधायक ने इस बारे में कहा कि किसी छोटे बदमाश की यह हरकत होगी. पूर्व विधायक ने इस मामले की पुलिस से भी शिकायत नहीं की है.

पहले पीए ने फिर पूर्व विधायक ने रिसीव किया कॉल
जानकारी के मुताबिक दोपहर तकरीबन 3 बजे पूर्व विधायक के पर्सनल मोबाइल नंबर पर आये कॉल को पहली बार उनके पीए ने उठाया. कॉल करने वाले ने खुद को औरंगाबाद के कस्पा गांव का रहने वाला बताते हुए अपना नाम मंटू पांडेय बताया और पूर्व विधायक से बात करने की बात कही. पीए ने जब काम पूछा तो उसने कड़े लहजे में पूर्व विधायक से 50 लाख रुपये रंगदारी की मांग करते हुए जान से मारने की धमकी दी.Bihar Cabinet Decision: फिर दौड़ेंगे डीजल ऑटो, ‘दीदी की रसोई’ खिलाएगी मरीजों को खाना, राजस्व विभाग में 3883 पदों की मंजूरी

पीए ने कॉल को गंभीरता से न लेते हुए फ़ोन कर रहे शख्स को डांटकर फोन काट दिया. थोड़ी देर बाद उसी नंबर से दोबारा कॉल आया जिसे पूर्व विधायक सुनील पांडेय ने खुद रिसीव किया. मोबाइल की दूसरी तरफ बोल रहे शख्स ने अपना परिचय देते हुए पूर्व विधायक से 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी. व्यक्ति ने रंगदारी नहीं देने पर 72 घंटे के अंदर पूर्व विधायक की हत्या करने की बात कही.

इस पर सुनील पांडेय ने खुद के जनप्रतिनिधि होने और जनता के बीच रहने की बात कहते हुए कहा कि तुमको जो भी करना है करो. इसके बाद पांडे ने फोन कट कर दिया. न्यूज़ 18 ने जब विधायक से इस बाबत बात की तो उन्होंने धमकी भरे इस फोन कॉल को ज्यादा तरजीह न देते हुए किसी भी तरह की कानूनी कार्रवाई से इंकार कर दिया.

इस बार विधानसभा में सुनील पांडेय ने निर्दलीय लड़ा था चुनाव

तरारी विधानसभा पूर्व में पिरो विधानसभा से साल 2015 में बाहुबली सुनील पांडेय की पत्नी गीता देवी ने लोक जनशक्ति पार्टी से विधानसभा का चुनाव लड़ा था, जिसमें वो भाकपा-माले के सुदामा प्रसाद से चंद वोटों से हार गई थी. वहीं पूर्व में समता पार्टी और फिर जदयू से निर्वाचित विधायक सुनील पांडेय ने 2020 का विधानसभा चुनाव लोक जनशक्ति पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष की कुर्सी छोड़ निर्दलीय लड़ा था. इस बार वो माले विधायक सुदामा प्रसाद से पीछे रह गए. बाहुबली कहे जाने वाले सुनील पांडेय की तरारी इलाके में अच्छी पकड़ मानी जाती है. यही कारण है कि इस बार उन्होंने निर्दलीय ही चुनाव लड़ने की ठानी और अच्छे वोट बटोरे थे.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here