प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र ने ट्रस्ट पर लगाया उपेक्षा का आरोप, कहा- गर्मी में बैठे हैं रामलला

0
50


अयोध्या. अयोध्या में गर्मी का प्रकोप अपने पूरे चरम पर है, लोग बेहाल हैं और ऐसे में भगवान रामलला भी गर्मी से अछूते नहीं हैं 1992 से 9 नवंबर 2019 तक जिस दिन राम लला के पक्ष में फैसला आया उस दिन तक श्री राम जन्मभूमि में विराजमान रामलला को उनकी मूलभूत सुविधाओं के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है. गर्मी से बचने के लिए पहले न तो पंखा था, न ही ठंड से बचने के लिए कंबल और अब फैसला आने के बाद ट्रस्ट का गठन हुआ, आलीशान अस्थाई मंदिर का निर्माण हुआ, कूलर और एसी तक लगाया गया. लेकिन हालात कुछ उलट हैं. परिसर में विराजमान रामलला के लिए लगाया गया एसी खराब है. रामलला के प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने ट्रस्ट के सदस्यों से कई बार इसकी शिकायत भी दर्ज कराई बावजूद उसके अभी तक एसी में सुधार नही हो सका.

बालक की तरह होती है सेवा
राम जन्मभूमि परिसर में रामलला बालक रूप में विराजमान हैं और जिस तरीके एक घर में नन्हे बालक की सेवा होती है उसी तरह राम जन्मभूमि में भगवान राम लला और उनके चारों भाइयों की सेवा की जाती है. ठंड में उन्हें गर्म पानी से स्नान, ब्लोअर, कंबल और गर्म कपड़े पहनाए जाते हैं. गर्मी में सूती वस्त्र, पंखा और एसी की व्यवस्‍था की जाती है. हालांकि इस साल वह मशीन खराब है और गर्मी भी प्रचंड पड़ रही है.
प्रधान पुजारी ने ट्रस्ट से आग्रह किया है कि जल्द ही राम लला के अस्थाई मंदिर में लगी हुई AC मशीन को सुधरवाया जाए जिससे कि रामलला को गर्मी से निजात मिल सके.

कोई नहीं सुन रहा
रामलला के प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने बताया कि भयंकर गर्मी पड़ रही है और भगवान रामलला के मंदिर में लगी हुआ एसी खराब है. कई बार ट्रस्ट के पदाधिकारियों से कहा गया पर अभी तक वो रिपेयर नहीं हो सका. उन्होंने कहा कि ये जिम्मेदारी ट्रस्ट की है ट्रस्ट के लोग इस बात को भलीभांति जानते भी हैं लेकिन उसके बावजूद नहीं बनवाया जा रहा है।
वहीं श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट कैंप कार्यालय के प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने बताया कि अभी रामलला के गर्भ ग्रह की एसी खराब है इस बात की जानकारी ट्रस्ट के पदाधिकारियों को नहीं है. अगर होती तो अब तक एसी में सुधार करा दिया जाता या नया एसी लगा दिया जाता.

आपके शहर से (अयोध्या)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: Ayodhya Ramlala Mandir, Ramlala



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here