फरीदाबाद से नोएडा की नई कनेक्टिविटी योजना लटकी! हरियाणा सरकार पड़ी ‘सुस्त’

0
22


एनसीआर मास्टर प्लान 2031 के तहत फरीदाबाद को नोएडा और ग्रेटर नोएडा से जोड़ने के लिए यमुना नदी पर दो नए पुलों का निर्माण किया जाना है (फाइल फोटो)

पिछले दिनों एनसीआर प्लानिंग बोर्ड (NCR Planning Board) की मीटिंग में पुलों के निर्माण को लेकर चर्चा हुई थी, लेकिन तब से यह योजना ठंडे बस्ते में पड़ी हुई है. सरकार भी इसमें कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रही है

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 29, 2020, 7:33 PM IST

चंडीगढ़. राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) के शहरों नोएडा (Noida) और ग्रेटर नोएडा से फरीदाबाद (Faridabad) को जोड़ने के लिए यमुना नदी (Yamuna River) पर दो नए पुल बनाने की योजना में देरी होगी. मास्टर प्लान 2031 (Master Plan 2031) में इस योजना को शामिल किया गया है. पिछले दिनों एनसीआर प्लानिंग बोर्ड (NCR Planning Board) की मीटिंग में पुलों के निर्माण को लेकर चर्चा हुई थी, लेकिन तब से यह योजना ठंडे बस्ते में पड़ी हुई है. सरकार भी इसमें कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रही है. डिस्ट्रिक्ट टाउन प्लानर रेणुना सिंह के मुताबिक नोएडा के लिए दो नए पुल बनाने की योजना मास्टर प्लान में शामिल है. अभी पुलों के निर्माण और जमीन अधिग्रहण को लेकर कोई निर्देश नहीं मिला है. वरिष्ठ अधिकारियों की तरफ से निर्देश मिलने के बाद इस संबंध में आगे की कार्रवाई शुरू हो सकेगी.

मास्टर प्लान 2031 में नोएडा और ग्रेटर नोएडा से फरीदाबाद की कनेक्टिविटी के लिए यमुना नदी पर दो नए पुल बनाने की योजना शामिल की गई है. योजना के तहत पहला पुल लालपुर गांव के पास बनाया जाएगा, यह सेक्टर 89 की आउटर रोड से कनेक्ट होगा. वहीं दूसरा पुल गांव तिलोर खादर और शिकारगाह के पास बनाया जाएगा. यह पुल मास्टर प्लान के तहत डेवेलप होने वाले सेक्टर 95 की आउटर रोड से आकर कनेक्ट होगा. यह पुल नोएडा के सेक्टर 150 और 168 से जुड़ेंगे. इन पुलों के बनने के बाद फरीदाबाद से नोएडा और ग्रेटर नोएडा आना-जाना काफी आसान हो जाएगा, इनके बीच की दूरी काफी कम हो जाएगी.

योजना को अमलीजामा पहनाने की दिशा में  कोई कदम नहीं उठाया गया  

पिछले दिनों एनसीआर प्लानिंग बोर्ड की मीटिंग में पुलों के निर्माण को लेकर चर्चा हुई थी. उस वक्त पुलों के निर्माण को लेकर सहमति बनी थी, लेकिन उसके बाद योजना को अमलीजामा पहनाने की दिशा में  कोई कदम नहीं उठाया गया है. सूत्रों के अनुसार, पुलों के निर्माण को लेकर हरियाणा सरकार की तरफ से रुचि नहीं दिखाई जा रही है. इसलिए पुल निर्माण की इन योजनाओं पर फिलहाल काम शुरू नहीं हो सकता है. सरकार की तरफ से निर्देश मिलने के बाद ही कार्रवाई शुरू हो सकेगी. पुलों को बनाने के लिए सबसे पहले जमीन अधिग्रहण करना होगा जिसके बाद ही निर्माण का काम हो सकेगा.नोएडा से फरीदाबाद को जोड़ने के लिए फिलहाल मंझावली पुल परियोजना पर ही काम चल रहा है. मंझावली गांव में यमुना पर फोन लेन पुल का निर्माण किया जा रहा है. अगले वर्ष मई-जून महीने तक पुल का काम पूरा होने की संभावना है. इस पुल से फरीदाबाद शहर को जोड़ने के लिए फरीदाबाद-मंझावली रोड का भी चौड़ीकरण किया जाना है. उत्तर प्रदेश के हिस्से में भी सड़क का निर्माण होना है.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here