बच्चों समेत सैकड़ों फर्जी नाम वोटर लिस्ट से जुड़े, BLO बर्खास्त

0
44


कुशीनगर में फर्जी वोटर्स बनाने का मामला आया सामने . (सांकेतिक तस्वीर)

UP Panchayat Election 2021: सुमही बुजुर्ग के कुछ स्‍थानीय निवासियों ने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कसया से वोटर लिस्ट में फर्जीवाड़े की शिकायत की थी. जांच में आरोप सही पाए जाने के बाद कार्रवाई की गई है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 14, 2021, 10:56 AM IST

कुशीनगर. उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election 2021) को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं. 22 जनवरी वोटर लिस्ट में नए नाम जोड़ने और मतदाता सूची जारी करने की अंतिम तारीख है, इस बीच कुशीनगर (Kushinagar) जनपद में वोटर लिस्ट में फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है. आरोप है कि कसया के फाजिलनगर विकास खंड के सुमही बुजुर्ग गांव की मतदाता सूची में बीएलओ ने सैकड़ों की तादाद में फर्जी नाम जोड़ दिए. जिनके नाम जोड़े गए उनमें नाबालिग स्कूली बच्चे भी शामिल हैं. शिकायत मिलने के बाद ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कसया ने लेखपालों को लगाकर जांच करायी तो फर्जीवाड़ा पकड़ा गया. प्रथम दृष्टया दोषी पाये जाने के बाद दो बीएलओ को बर्खास्त करते हुए प्राथमिकी दर्ज करने के आदेश दिए गए हैं.

दरअसल, सुमही बुजुर्ग निवासी मधुबन सिंह, शेषनाथ मिश्र व सुनील कुमार सिंह ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कसया से वोटर लिस्ट में फर्जीवाड़े की शिकायत की थी. उनका आरोप था कि उनके गांव में बीएलओ ने 14 वर्ष से लेकर 17 साल तक के सैकड़ों बच्‍चों को भी मतदाता बना दिया है. मतदाता सूची में स्‍कूल में पढ़ने वाले नाबालिग बच्‍चों की भरमार है. शिकायत पत्र में यह भी आरोप लगाया गया कि उक्त बीएलओ अपनी पत्नी को चुनाव लड़ाना चाहता है. बीते चुनाव में वह ग्राम प्रधान पद का प्रत्याशी भी रह चुका है. बीएलओ द्वारा अपने मजरे के तीन वार्डों से करीब 400 नए मतदाताओं का नाम वोटर लिस्ट में जोड़ दिया गया है.

ऐसे किया फर्जीवाड़ा 
आरोप लगने के बाद उपजिलाधिकारी ने आरोपी बीएलओ को हटाकर नए की नियुक्ति कर दी, लेकिन आरोपी बीएलओ ने नए बीएलओ को भी अपने साथ मिलाकर फर्जीवाड़े का काम जारी रखा. इसके बाद फिर जांच की गई तो पता चला कि फर्जी आधार नम्बर, नाम और पते से उक्त बीएलओ ने करीब 400 मतदाता बनाये हैं. इसमें से कई मतदाता छठवीं और सातवीं के विद्यार्थी हैं. इसके बाद दोनों बीएलओ को बर्खास्त करते हुए उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया है. FIR दर्ज करने के आदेश 

इस सम्‍बन्‍ध में उपजिलाधिकारी पूर्ण बोरा ने बताया कि मामले की जानकारी तीन दिन पहले हुई थी. जांच में शिकायत सही पाई गयी. इसके बाद बीएलओ को बर्खास्त करने की कार्यवाही के साथ शांति भंग की धारा में कार्रवाई की जा रही है.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here