बरेली SSP बोले- ट्विटर को ना बनाएं ‘थाना’ और शुरू हो गई बहस, जानें क्या है पूरा मामला?

0
28


हाइलाइट्स

बरेली एसएसपी का ​ने थाने में मामला दर्ज कराने की दी सलाह.
ट्विटर यूजर्स बताने लगे अपनी राय, कुछ को लगा सही तो कुछ को गलत.

बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली एसएसपी के ट्विटर अकाउंट से हुआ एक ट्वीट सुर्खियों में है. ट्वीटर का स्क्रीन शॉट वॉट्सऐप पर तेजी से वायरल हो रहा है. साथ ही कुछ लोग इस ट्वीट की आलोचन भी कर कर रहे हैं. एसएसपी बरेली के नाम से बने ट्विटर हैंडल से ट्विटर को चलता-फिरता कार्यालय ना बनाने की बात कही है.

एसएसपी बरेली के ट्वीट में आम जनता से कार्य दिवस के दिन थाने या फिर क्षेत्राधिकारी, एएसपी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय जाकर शिकायत करने की बात कही है. इसके पीछे माना यह भी जा रहा है कि बरेली पुलिस ट्वीटर पर होने वाली शिकायत से परेशान है. आम पब्लिक थाने न जाकर सीधे अपनी शिकायत को ट्वीट करते हैं. इसके कारण शिकायतकर्ता की बात लखनऊ में बैठे अधिकारियों के पास तुरंत पहुंच जाती है. ऐसे में जिले में बैठे अधिकारियों को चाहकर भी मामले में संज्ञान लेकर कार्रवाई करना पड़ती है.

सोशल मीडिया यूजर्स का कहना था कि ये तो डिजिटल इंडिया है इसलिए यहां सोशल मीडिया पर शिकायत क्यों नहीं की जा सकती?

इस कारण अधिकारी दबाव में रहते हैं. एसएसपी के ट्वीट पर सोशल मीडिया पर तत्काल टिप्पणी आने लगी. कुछ लोगों ने एसएसपी की बात का समर्थन किया. इसके उलट कुछ सोशल मीडिया यूजर का कहना था कि ये तो डिजिटल इंडिया है. यहां वर्चुअल कोर्ट तक चलता है. फिर थाने में पुलिस को सोशल मीडिया पर शिकायत क्यों नहीं हो सकती?

लोगों का कहना था कि जब न्याय नहीं मिलता तो सोशल मीडिया पर आना पड़ता है.

सोशल मीडिया की अगर बात की जाए तो पिछले कई दिनों में बरेली पुलिस ने ट्विटर की खबरों का लगातार संज्ञान लिया है. साथ ही उन पर कार्रवाई भी हुई है. फरीदपुर क्षेत्र में नूपुर शर्मा को धमकी देने की 2 शिकायत ट्विटर के जरिए ही की गई थीं, जिन पर पुलिस ने एक्शन लेते हुए दोनों आरोपियों को जेल भी भेजा है.

Tags: Bareilly news, Twitter



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here