बसपा के पूर्व MLC हाजी इकबाल पर कसा शिकंजा, खनन माफिया की 21 करोड़ की संपत्ति जब्त, जानें पूरा मामला

0
13


सहारनपुर. बसपा के पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल उर्फ बाला की पुलिस ने बेनामी संपत्तियां जब्‍त कर ली हैं. खनन माफिया ने अपने नौकर नसीम के नाम 50 बेनामी संपत्तियां करवा रखी थीं, जिनकी कीमत करीब 21 करोड़ रुपये है. सहारनपुर पुलिस ने ये कार्रवाई 14(1) गैंगस्टर एक्ट के तहत की है. वहीं, जिले के एसएसपी आकाश तोमर ने कहा है कि माफियाओं के खिलाफ यह अभियान जारी रहेगा. यही नहीं, पुलिस की कार्रवाई की जद में इकबाल की ग्लोकल यूनिवर्सिटी भी आ सकती है.

एसएसपी के मुताबिक, पुलिस ने बेहट क्षेत्र में हाजी इकबाल की इन बेनामी संपत्तियों को चिन्हित कर लिया था, जिनमें 600 बीघा जमीन भी शामिल है. वहीं, आज (रविवार) को गैंगस्टर एक्ट 14(1) के तहत जब्त करने की कार्रवाई की जा रही है. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि यह प्रदेश में अब तक की सबसे बड़ी जब्तीकरण की कार्रवाई है. जानकारी के मुताबिक, हाजी इकबाल ने अपने नौकर नसीम को अपनी करोड़ों की बेनामी संपत्ति का मालिक बना रखा है. यही नहीं, वह पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल की लखीमपुर खीरी, गोरखपुर और सीतापुर की चीनी मिलों का डायरेक्टर भी है. हालांकि नसीम को गिरफ्तार कर पुलिस पहले ही जेल भेज चुकी है.

हाजी इकबाल के करीब लईक अहमद और नसीम को जेल
एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि नसीम हाजी इकबाल के यहां नौकर था. हाजी इकबाल की काफी बेनामी संपत्ति नसीम के भी नाम है. उन्होंने बताया कि वह लखीमपुर खीरी, गोरखपुर और सीतापुर की तीन चीनी मिल खरीदने वाली कंपनी में भी डायरेक्टर है. उसके खिलाफ लखनऊ के गोमतीनगर थाने में कंपनी एक्ट व अन्य धाराओं में भी मुकदमा दर्ज है.

नसीम गोल्डन एग्रीकल्चर के नाम से बनाई गई कंपनी में भी साझीदार है जिसकी शाहपुर गाढ़ा, सफीपुर और फतेहपुर टांडा में लगभग 600 बीघा जमीन है. जबकि उसके अपने व उसके बेटे के नाम से भी जमीन खरीदी हुई है. पुलिस ने अभी पिछले दिनों पूर्व एमएलसी के करीबी पूर्व ब्लाक प्रमुख राव लईक अहमद को भी गैंगस्टर एक्ट के तहत जेल भेजा था. नसीम भी उसी मुकदमें में वांछित चल रहा था. इसके अलावा हाजी इकबाल की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही हैं.

Tags: BSP, Kabad mafia haji iqbal, Saharanpur news, Saharanpur Police



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here