बस्ती में खराब सड़क में फंसी एंबुलेंस और फिर वहीं करवानी पड़ी डिलीवरी, जानें मामला

0
17


हाइलाइट्स

कड़ी मशक्कत के बाद एंबुलेंस बाहर नहीं निकल पाई.
खराब सड़क के कारण 500 मीटर दूर ही मरीज को छोड़ देते हैं.

बस्ती. उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के दुबौलिया में एक प्रसूता को एंबुलेंस में ही बच्चे को जन्म देना पड़ा. इसके पीछे की वजह जानेंगे तो आपको हैरानी होगी. दरअसल खराब सड़क और बारिश के कारण हुए कीचड़ में एम्बुलेंस का टायर फंस गया. लाख कोशिशों के बाद भी एंबुलेंस को बाहर नहीं निकाला जा सका. ऐसे में एम्बुलेंस में ही प्रसूता की डिलीवरी करवानी पड़ी.

जानकारी के अनुसार, दुबौलिया ब्लॉक के एक गांव से प्रसव पीड़िता को 102 एंबुलेंस से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रामनगर विशेश्वरगंज ले जा रहे थे. सड़क काफी दिनों से खराब होने के कारण एंबुलेंस गड्ढे में फंस गई. काफी मशक्कत के बाद भी जब एम्बुलेंस निकल नहीं सकी तो पीड़िता ने एंबुलेंस में ही बच्चे को जन्म दे दिया.

जच्चा-बच्चा पैदल पहुंचे हॉस्पिटल
ब्लॉक क्षेत्र के सांडपुर गांव निवासी विजय की पत्नी सरिता को प्रसव पीड़ा होने पर गांव की आशा बहू रीना 102 एंबुलेंस से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रामनगर विशेश्वरगंज ले जा रही थी. अस्पताल जाने वाली निर्माणाधीन सड़क काफी खराब होने के कारण अस्पताल से दो सौ मीटर पहले ही गड्ढे में फंस गई. चालक द्वारा कड़ी मशक्कत के बाद एंबुलेंस बाहर नहीं निकल पाई. महिला को प्रसव पीड़ा अधिक होने के कारण मौके पर डॉक्टर डीके चौधरी, स्टाफ नर्स सुनीता वर्मा एवं दाई ने एंबुलेंस में ही सुरक्षित बच्चे को पैदा कराया. जिस के बाद पैदल ही जच्चा बच्चा को अस्पताल लेकर पहुंची.

काफी समय से रास्ता खराब
डॉ. डीके चौधरी ने बताया कि अस्पताल जाने वाला मार्ग बरसात के कारण बहुत ही खराब हो गया है, जिसके कारण ना तो अस्पताल तक एंबुलेंस पहुंच पाती है और ना ही हम लोग अपनी गाड़ी लेकर अस्पताल तक जा पाते हैं. खराब सड़क के कारण पांच सौ मीटर दूर ही एंबुलेंस चालक मरीज को छोड़ देते हैं, जिससे मरीजों को पैदल ही अस्पताल आना जाना पड़ता है.

Tags: 108 ambulance, Basti news, UP news, Yogi government



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here