बस्ती में महज कागजों तक सीमित रह गया टॉयलेट, शौचालय के नाम पर 1 करोड़ का घोटाला

0
14


कृष्ण गोपाल द्विवेदी

बस्ती. स्वच्छ भारत मिशन के तहत सरकार की कोशिश है कि खुले में शौच से लोगों को मुक्ति मिले, लेकिन भ्रष्टाचार की वजह से यह योजना पूरी तरह सफल नहीं हो पा रही है. उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के दुबौलिया विकास खंड में शौचालय निर्माण में करोड़ों रुपए का घोटाला सामने आया है. शौचालय निर्माण के लिए आए पैसे से ज्यादातर शौचालय या तो बने नहीं, और जो बनाए भी गए वो मानकों के अनुरूप नहीं हैं. ऐसे में ग्रामीण खुले में शौच करने को मजबूर हैं.

सरकार हर घर शौचालय पर जोर दे रही है. देश को ओपन डेफिकेशन फ्री कराने पर बकायद अभियान चलाया गया. निर्मल भारत अभियान और स्वच्छ भारत मिशन के लिए सरकार की तरफ से भरपूर बजट भी दिया गया था, लेकिन बस्ती में इस अभियान में जमकर घोटाला देखने को मिला है. यहां के दुबौलिया विकास खंड में बिना शौचालय बनवाए ही 679 शौचालय का पैसा पूर्व ग्राम प्रधान और सचिव के मिलीभगत से निकाल लिया गया.

दुबौलिया ब्लॉक के ग्राम पंचायत बरदिया लोहार में वित्तीय वर्ष 2016-2017 से वित्तीय वर्ष 2020-2021 में पूर्व प्रधान रामदास के द्वारा 827 शौचालयों का आवंटन किया गया. इसमें से 535 शौचालयों को कागज में दिखाया गया. जब इसकी हकीकत देखी गई तो धरातल पर शौचालय गायब मिले.

कागजों तक सीमित रह गया शौचालय

शिकायतकर्ता शिव कुमार ने बताया कि 826 शौचालयों में से मात्र 70-80 शौचालय ही प्रधान के द्वारा बनाया गया है. बाकी के 679 शौचालयों को कागज पर ही बना दिया गया और उसका पैसा निकाल लिया गया. पूर्व प्रधान के द्वारा ग्राम पंचायत के यूनियन बैंक के खाते से अपने चहेते फर्म शौर्य ट्रेडर्स, उमा ट्रेनिंग कंपनी, उमेश ब्रिक्स फील्ड एवं शिवाजी सिंह बिल्डिंग मैटेरियल को गलत तारीके से बिना काम कराए पैसे भेज दिए गए. इस तरह पूर्व प्रधान रामदास के द्वारा लगभग एक करोड़ रुपए का गबन किया गया है.

शौचालय निर्माण में घोटाले का खुलासा

वर्तमान क्षेत्र पंचायत सदस्य दुर्ग विजय निषाद ने बताया कि जब वो अपने भाइयों के शौचालय के लिए आवेदन करने गए तो उन्होंने जैसे ही आधार नंबर डाला तो उसमें पहले से ही शौचालय मिला हुआ दिखाने लगा. जब उन्होंने पूरा डाटा निकलवाया तो पाया कि उनके घर के आठ सदस्यों के नाम पर शौचालय का पैसा निकाल लिया गया है. जबकि हकीकत में किसी को भी शौचालय मिला नहीं है.

जांच सही आने पर होगी कार्रवाई

बस्ती के सीडीओ राजेश प्रजापति ने बताया कि शौचालय निर्माण में भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है. यह बेहद गंभीर विषय है. इसमें टीमें गठित कर के जांच करवाई जाएगी. दोषी पाए जाने पर एफआईआर दर्ज कर रकम वसूली की कार्रवाई की जाएगी. फिलहाल अभी इसकी जांच की जा रही है.

Tags: Basti news, Corruption news, Toilet, Up news in hindi



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here