बाबा विश्वनाथ का धनाभिषेक! जमकर बरस रहा धन, टूटे सारे रिकॉर्ड, जानें पूरी इनसाइड स्टोरी

0
33


वाराणसी. श्रीकाशी विश्वनाथ धाम (Kashi Vishwanath Dham) बनने के बाद बाबा के दरबार में धन बरस रहा है. बीते वर्षों से करीब ढाई गुना आय में बढ़ोत्तरी हुई है. 13 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने श्री काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण किया था. उसके कुछ दिनों बाद ही मंदिर के शिखर की तरह ही मंदिर का गर्भगृह भी स्वर्णमंडित हो गया. स्वर्णमंडित आभा से निखरे श्रीकाशी विश्वनाथ धाम में मां लक्ष्मी की भी कृपा बरस रही है. ये हम नहीं बल्कि विश्वनाथ मंदिर की आय में हुई बढ़ोत्तरी के आंकड़े कह रहे हैं. आंकड़ों के मुताबिक, बीते वित्त वर्ष की तुलना में ये आय करीब ढाई गुना बढ़ती हुई दिख रही है. बीते सालों में करीब 12 से 15 करोड़ की सालाना आय होती थी. अब हर दिन करीब दो करोड़ की आय मंदिर प्रशासन को हो रही है. ये आय हेल्प डेस्क, डोनेशन, आरती आदि मदों से हुई है.

ये आय कैसे बढ़ी, इसको भी समझ लीजिए. पहले आम दिनों में 10 से 15 हजार भक्त दर्शन करते थे. आज सामान्य दिनों में करीब 70 हजार और वीकेंड में करीब एक लाख भक्त बाबा दरबार में हाजिरी लगाने पहुंच रहे हैं. भक्तों की गिनती के लिए हेड काउंटिंग कैमरे लगाए गए हैं. खास बात ये है कि इस वक्त वाराणसी में पर्यटन के लिहाज से ऑफ सीजन माना जाता है. गर्मी की वजह से भक्त इस मौसम में कम आते हैं. बावजूद इसके, आलम ये है कि सुबह से देर रात तक दर्शन की कतार सड़क मार्ग और गंगा द्वार से लगी हुई है. धन की बारिश केवल मंदिर में नहीं बल्कि वाराणसी के पर्यटन कारोबार पर भी हो रही है. इस वक्त लगभग सभी बड़े और छोटे होटल, गेस्ट हाउस, आश्रम के कमरे हाउसफुल हैं. करीब एक महीने की वेटिंग है. खानपान और अन्य कारोबार में भी तेजी से उछाल आया है.

ऑफ सीजन के बावजूद उमड़ रही भीड़
वाराणसी के कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि आने वाले वक्त में कई इंटरनेशनल और घरेलू उड़ान शुरू होने वाली है, जिसको देखते हुए भीड़ बढ़ने की संभावना है. ऐसे में हमारे लिए ये खुशी की बात भी है और एक चुनौती भी. सुनकर चौंक जाएंगे कि इस साल नए वर्ष यानी एक जनवरी को करीब सात लाख और शिवरात्रि पर पांच लाख से ज्यादा लोगों ने मंदिर में दर्शन किया. इस वक्त ऑफ सीजन के दौरान दिन में भी भीषण गर्मी के बावजूद करीब तीन से चालीस हजार लोग दर्शन कर रहे हैं. खुद मंदिर प्रशासन मान रहा है कि विश्वनाथ धाम लोकार्पण के बाद ये उम्मीद थी कि दर्शनार्थियों की संख्या बढ़ेगी लेकिन इतनी बढ़ेगी, इसका अनुमान हम भी नहीं लगा पाए. माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में पूरे काशी का अर्थतंत्र बदलने वाला है.

आपके शहर से (वाराणसी)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: Kashi Vishwanath Corridor, Kashi Vishwanath Dham, Varanasi Commissioner, Varanasi news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here