बिकरू कांड के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे के भाई दीपक दुबे की जमानत की मंजूर

0
48


हाइलाइट्स

जनवरी 2021 से जेल में बंद है दीपक दुबे
विकास दुबे का भाई होने के कारण झूठा फंसाया गया

प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कानपुर के बिकरू कांड के मुख्य आरोपी मृत गैंगस्टर विकास दुबे के भाई दीपक दुबे की जमानत अर्जी मंजूर कर ली है. याची दीपक दुबे पर आरोप है कि अपराध करने के लिए दूसरे के नाम के सिम कार्ड का इस्तेमाल कर धोखाधड़ी की है. दीपक दुबे की जमानत अर्जी पर सुनवाई करते हुए यह आदेश जस्टिस सिद्धार्थ कि सिंगल बेंच ने दिया है.

याची दीपक दुबे का कहना था कि उसे विकास दुबे का भाई होने के कारण झूठा फंसाया गया है. पुलिस ने उसे चार मामलों में फंसाया है, जबकि वह 16 साल का नाबालिग है. उसने किसी भी अपराध के लिए अपने मोबाइल फोन नंबर का इस्तेमाल नहीं किया और न ही कथित मोबाइल फोन के असली मालिक दया शंकर अग्निहोत्री द्वारा उसके खिलाफ कोई शिकायत दर्ज कराई गईं है. मामला अपराध मजिस्ट्रेट की अदालत में विचारणीय है. याची जनवरी 2021 से जेल में बंद है और मुकदमे के शीघ्र निस्तारण की भी कोई संभावना नहीं है.

सरकारी वकील ने जमानत का किया विरोध
सरकारी अधिवक्ता ने जमानत अर्जी का विरोध करते हुए कहा कि मोबाइल नंबर स्वर्गीय विकास दुबे के नौकर का है और विकास दुबे को भागने में सहायता करने के लिए आवेदक द्वारा इसका दुरुपयोग किया गया. दया शंकर अग्निहोत्री के बयान के आधार पर विशेष जांच दल की विस्तृत रिपोर्ट के आधार पर प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज की गई है और चूंकि दूरसंचार नियामक प्राधिकरण के नियम ग्राहक परिवर्तन की अनुमति नहीं देते हैं. इसलिए आवेदक जमानत पर छोड़ें जाने का हकदार नहीं है. कोर्ट ने याची अधिवक्ता और सरकारी वकील की दलीलें सुनने के बाद गैंगस्टर विकास दुबे के भाई दीपक दुबे की जमानत याचिका मंजूर कर ली.

Tags: Allahabad high court, UP latest news, Vikas Dubey



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here