भतीजे अखिलेश की चिट्टी पर चाचा शिवपाल यादव ने आखिर क्यों साध ली चुप्पी?

0
21


हाइलाइट्स

शिवपाल सिंह यादव बोले- मुझे कुछ नही है बोलना.
भतीजे अखिलेश ने कहा था, जहां जाना चाहें वहां जा सकते हैं.

इटावा. उत्तर प्रदेश में भतीजे सपा प्रमुख अखिलेश यादव की ओर से जारी की गई चिट्ठी चर्चा का विषय बनी हुई है. लेकिन चाचा शिवपाल इस पर ज्यादा बात करने के मूड में नहीं दिख रहे हैं. हाल ही इस चिट्ठी को लेकर पत्रकारों ने ​शिवपाल यादव से जब सवाल किया तो उन्होंने चुप्पी साध ली. शिवपाल सिंह यादव से लगातार इस विषय में बात करने की कोशिश की जा रही है लेकिन वे इस बारे में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं.

रविवार को अपने चौगुर्जी आवास से सैफई जाते समय पत्रकारों के पूछने पर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने केवल इतना ही कहा है कि मुझे कुछ नही बोलना है. शिवपाल के सामने यह भी सवाल दागा गया कि चाचाजी कब तक शांत रहेंगे कभी तो बात करनी पड़ेगी. लेकिन शिवपाल ने कोई जवाब नहीं दिया और चौगुर्जी स्थित आवास से सैफई के लिए चले गए. सैफई होते हुए शिवपाल सिंह यादव लखनऊ के लिए रवाना हो गए.

चिट्ठी के बाद से मंत्रणा का दौर
बता दें कि शनिवार को सपा प्रमुख अखिलेश यादव की ओर से शिवपाल सिंह को लेकर जारी की गई चिट्ठी के बाद शिवपाल ने रविवार को पत्रकारों के समक्ष प्रेसवार्ता के जरिए अपनी बात रखने का वादा किया था लेकिन इसके बावजूद भी शिवपाल सिंह यादव ने रविवार को इटावा में कोई प्रेसवार्ता नहीं की.

माना जा रहा था कि सोमवार को संभवत लखनऊ जाकर शिवपाल अपनी बात रखेंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ. शिवपाल की ओर से इस बारे में चुप्पी साथ लेने से एक बात साफ होती हुई दिख रही है कि शिवपाल सिंह यादव अभी यह तय नहीं कर पाए हैं कि भतीजे और सपा प्रमुख अखिलेश यादव को वह किस तरह से जवाब दें. हालांकि उन्होंने ट्वीट के जरिए अपने आप को पूर्व में ही स्वतंत्र होना मान लिया है. चिठ्ठी के बाद चाचा शिवपाल सिंह यादव अपने खास एवं भरोसेमंद सहयोगियों के साथ आगे की रणनीति के बारे में मंत्रणा करने मे लगे हुए हैं.

दो दिन चला चाचा शिवपाल का मंथन
पिछले दो दिनों से सैफई मे अपने पिता के नाम बने एस एस मेमोरियल स्कूल मे गहन वार्ता के बाद अपने चौगुर्जी आवास पर और हेवरा मे पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के नाम पर स्थापित कॉलेज मे अपने लोगों से शिवपाल मंथन करने मे जुटे रहे. बता दें कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल सिंह के लिए एक चिठ्ठी जारी करते हुए लिखा था कि आपको जहां ज्यादा सम्मान मिल रहा हो, वहां आप जाने के लिए स्वतंत्र हैं.

Tags: Akhilesh yadav, Etawah news, Shivpal Yadav



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here