भारत-ब्रिटेन संबंधों में नया अध्याय, पीएम मोदी और बोरिस जॉनसन ने रोडमैप-2030 को दी मंजूरी

0
19


दोनों नेताओं ने इस बैठक में कोरोना वायरस संक्रमण से पैदा हुई स्थिति और महामारी से निपटने के लिए साझा प्रयासों पर चर्चा की. ANI

PM Narendra Modi Boris Johnson Virtual Summit: विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची के मुताबिक दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर साझा हितों को लेकर भी चर्चा की.

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने मंगलवार को भारत-ब्रिटेन द्विपक्षीय वर्चुअल मीटिंग में हिस्सा लिया. दोनों नेताओं ने इस बैठक में कोरोना वायरस संक्रमण से पैदा हुई स्थिति और महामारी से निपटने के लिए साझा प्रयासों पर चर्चा की. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची के मुताबिक दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर साझा हितों को लेकर भी चर्चा की. प्रवक्ता ने कहा कि भारत-ब्रिटेन के रिश्तों को एक नई ऊंचाई देते हुए समिट में रोडमैप-2030 को स्वीकार किया गया है. इसके तहत दोनों देश 5 महत्वपूर्ण क्षेत्रों में अगले एक दशक तक अपने संबंधों को और ज्यादा गहरा और मजबूत बनाएंगे. समिट के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर समिट के बारे में जानकारी दी. प्रधानमंत्री ने लिखा, “मेरे दोस्त ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के साथ वर्चुअल समिट में हिस्सा लिया. भारत और ब्रिटेन के रिश्तों गहन रणनीतिक साझेदारी में बदलने के लिए हमने महत्वाकांक्षी रोडमैप-2030 को स्वीकार किया है.” प्रधानमंत्री ने बताया कि “हमने दोनों देशों के बीच व्यापारिक साझेदारी को आगे बढ़ाने का फैसला किया है, और लक्ष्य है कि 2030 तक दोनों देशों के बीच व्यापार को दोगुना कर दिया जाए. इसके अलावा हमने स्वास्थ्य, तकनीकी और ऊर्जा के क्षेत्र में कई नई योजनाओं की शुरुआत को लेकर भी सहमति जताई है.” उन्होंने लिखा, “हमने कोविड महामारी से निपटने के लिए दोनों देशों के बीच साझा प्रयासों पर भी चर्चा की और जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर पेरिस समझौते के लक्ष्यों को पाने के लिए अपने प्रयासों को दोहराया.”









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here