भोपाल के सॉफ्टवेयर इंजीनियर की अमेरिका में गोली मारकर हत्या, परिवार को नहीं मिली US जाने की अनुमति

0
76


इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद शरीफ नौकरी के लिए अमेरिका चले गए थे.

Bhopal-परिवार ने भारत और प्रदेश सरकार से याचना की कि उन्हें अमेरिका जाने दिया जाए. लेकिन कोरोना गाइड लाइन के कारण परिवार को अमेरिका जाने की परमिशन नहीं मिली.

भोपाल. भोपाल (Bhopal) के एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर युवक की अमेरिका (America) में गोली मारकर हत्या कर दी गयी. कोरोना गाइड लाइन के कारण बेटे का शव भारत नहीं लाया जा सका और न ही परिवारवालों को अमेरिका जाने की इजाज़त मिली. बेटे की मौत के ग़म में डूबे परिवार की उससे भी बड़ी बदनसीबी ये रही कि वो उसे मिट्टी तक न दे सके. वीडियो कॉल के ज़रिए उन्होने अपने बेटे को सुपुर्द-ए-खाक होते देखा.

राजधानी भोपाल के न्यू सुभाष नगर में रहमान फैमिली रहती है. उसका युवा बेटा शरीफ उर रहमान इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी कर नौकरी के लिए अमेरिका चला गया था. शरीफ की 31 मार्च की रात वहां के एक लोकल बदमाश मिलर ने गोली मारकर हत्या कर दी. आरोपी मिलर आदतन अपराधी है.

बच्ची को आरोपी से बचाया था
बताया जा रहा है कि शरीफ जहां रहता था, उसी इलाके में मिलर किसी परिवार को प्रताड़ित कर रहा था. उसमें एक छोटी बच्ची भी थी. शरीफ बीच बचाव करने गया और उस बच्ची को मिलर के चंगुल से मुक्त कराके उसकी जान बचायी. बाद में वो अपने अपार्टमेंट में लौट आया. लेकिन मिलर ने उसका पीछा किया और अपार्टमेंट के सामने ही शरीफ को गोली मार दी. आरोपी ने ताबड़तोड़ तीन गोली शरीफ को मारी जिससे उसकी वहीं मौत हो गयी.

भोपाल के सॉफ्टवेयर इंजीनियर की अमेरिका में गोली मारकर हत्या, परिवार को नहीं मिली US जाने की अनुमति

आरोपी मिलर

वीडियो कॉल से बेटे को सुपुर्द-ए-खाक होते देखा
बेटे की मौत की सूचना भोपाल में रह रहे परिवार को 31 मार्च को मिली. परिवार ने भारत और प्रदेश सरकार से याचना की कि उन्हें अमेरिका जाने दिया जाए. लेकिन कोरोना गाइड लाइन के कारण परिवार को अमेरिका जाने की परमिशन नहीं मिली. 3 दिन बाद शरीफ को अमेरिका में ही सुपुर्द ए खाक कर दिया गया. परिवार तो उसे मिट्टी नहीं दे पाया लेकिन एनजीओ और वहां के मुस्लिम नागरिकों ने मिलकर शरीफ को सुपुर्द ए खाक किया. परिवार ने वीडियो कॉल के ज़रिए अपने बेटे को सुपुर्द-ए-खाक होते देखा.

भोपाल के सॉफ्टवेयर इंजीनियर की अमेरिका में गोली मारकर हत्या, परिवार को नहीं मिली US जाने की अनुमति

जुलाई में था निकाह
मृतक के भाई मुजीबुर रहमान ने बताया कि अमेरिकन पुलिस ने आरोपी मिलर को गिरफ्तार कर लिया है. शरीफ 6 साल पहले सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी कर नौकरी करने अमेरिका चला गया था. तब से वो वहीं था. जुलाई में उसके निकाह की तैयारी की जा रही थी. इधर बेटे का सेहरा बुना जा रहा था उधर उसकी मौत की खबर आ गयी.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here