मथुरा: श्रीकृष्ण का पोतरा कुंड से है खास रिश्‍ता, जानें वो दिलचस्प बातें जिनसे अक्सर लोग अनजान हैं!

0
15


चंदन सैनी

मथुरा. यूपी के मथुरा के कण-कण में भगवान श्रीकृष्ण का वास है, तो यहां के पग-पग पर भगवान श्रीकृष्ण की लीलाएं हैं. कहीं गाय चराने की लीला, तो कहीं दूध-दही की मटकी फोड़ने की लीला, लेकिन हम आपको भगवान श्रीकृष्ण के जन्म से जुड़ी उस लीला के बारे में बताने जा रहे हैं, जो शायद ही आपने सुनी होगी.

माता देवकी ने कहां धोए थे बाल गोपाल के वस्त्र? योगीराज श्रीकृष्ण का जन्म मथुरा के राजा कहे जाने वाले कंस की कारगार में हुआ. कंस के कारागार में भगवान श्रीकृष्ण के जन्म के बाद माता देवकी ने उनके वस्त्र और उपवस्त्र पोतरा कुंड में धोए थे.

क्या है पोतरा कुंड की मान्यता ?
कुंड की मान्यता के अनुसार, जब तक इस कुंड में जन्म लिए बच्चे के वस्त्र नहीं धुल जाते तब तक उसकी शुद्धि नहीं होती. कहा ये भी जाता है कि पोतरा कुंड में पानी अंदरूनी स्रोतों के माध्यम से भरा जाता है. पोतरा कुंड में जगह-जगह श्रोत बनाए गए हैं, जिससे कुंड में पानी भरा जा सके.

कहां स्थित है पोतरा कुंड ?
पोतरा कुंड भगवान श्रीकृष्ण जन्मस्थान के निकट ही है. यहां आने वाले श्रद्धालु कुंड में नीचे उतरने के लिए बड़े ही लालायित रहते हैं. कुंड में नीचे उतरने के लिए सीढ़ियां भी बनाई गई हैं, लेकिन कुंड के चारों तरफ बैरिकेडिंग की वजह से उसमे कोई जा नहीं सकता. इस कुंड की गहराई का कोई आज तक पता नहीं लगा पाया है.

अनदेखी की भेंट चढ़ रहा पोतरा कुंड
पोतरा कुंड में अनेकों प्रकार की रंग बिरंगी लाइटें और फव्‍वारे लगाए गए हैं, जो यहां आने वाले श्रद्धालुओं को अपनी ओर आकर्षित करते हैं. हालांकि इन दिनों कुंड की साफ-सफाई नहीं होने के कारण चारों तरफ काई जमीं हुई हैं

Tags: Lord krishna, Mathura news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here