महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराध के विरोध में कांग्रेस ने किया मौन प्रदर्शन, बोली- दलितों पर भी बढ़ा जुल्म

0
2


महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अत्याचार के विरोध में मौन प्रदर्शन करते कांग्रेस कार्यकर्ता.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में महिलाओं के प्रति बढ़ रहे अत्याचार और दुष्कर्म (Rape) के मामलों को कांग्रेस (Congress) ने आज मौन प्रदर्शन किया. कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी सरकार (BJP Government) में दलितों पर अत्याचार के मामले बढ़े हैं.

भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में महिलाओं के प्रति बढ़ रहे अत्याचार और दुष्कर्म (Rape) के मामलों को लेकर सियासत छिड़ तेज हो गई है. कांग्रेस (Congress) ने आज पूरे प्रदेश में मौन धरना देकर महिला (Women) अत्याचार के खिलाफ गुस्से का इजहार किया है. भोपाल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अंबेडकर प्रतिमा (Ambedkar Statue) के समक्ष मौन धरना देकर महिला अत्याचार के खिलाफ नाराजगी जाहिर की. पूर्व मंत्री पीसी शर्मा के साथ जिला कांग्रेस अध्यक्ष और पार्टी कार्यकर्ताओं ने मौन धरना दिया. अंबेडकर की प्रतिमा के सामने दलितों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ नारेबाजी की.

पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने आरोप लगाया कि यूपी के हाथरस से लेकर मध्य प्रदेश में बीते छह महीनों में सात गैंगरेप के मामले हो चुके हैं. सरकार की पुलिस पर पकड़ नहीं बची है. देश और प्रदेश में महिलाओं के प्रति लगातार अत्याचार के मामले सामने आ रहे हैं. नरसिंहपुर के बाद रीवा और भोपाल के बैरागढ़ में दलित युवती के साथ रेप के मामले पर कांग्रेस ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है. वहीं बैरागढ़ में दलित युवती से रेप के मामले पर सियासत हो रही है. कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की है. कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने आरोप लगाया कि अपराधियों पर पुलिस का खौफ खत्म हो गया है. इसीलिए मध्य प्रदेश में दुष्कर्म जैसे मामलों में पुलिस आरोपियों को बचाने का काम कर रही है.

ये भी पढ़े  Four lakhs cheated with the engineer at the power plant

MP: 100 से 200 रुपए फसल बीमा मिलने वाले किसानों को राहत, फिर से पेश कर सकेंगे अपना दावा

वहीं प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दुष्कर्म के मामलों को लेकर घृणित मानसिकता को जिम्मेदार ठहराया है. महिला अत्याचार के कांग्रेस के आरोप पर पलटवार करते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि एनसीआरबी की रिपोर्ट के आंकड़े 2019 के हैं, जो बताते हैं कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार के शासन में अपराध के आंकड़ों में मध्य प्रदेश टॉप राज्यों में शामिल है. अपराधों के लिए बीजेपी सरकार पर निशाना साधकर विपक्ष झूठ बोलने का काम कर रहा है.बहरहाल प्रदेश में 28 विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव से पहले महिला अत्याचार और दलितों के साथ घट रही घटनाओं को लेकर सियासत गरमा गई है. यही कारण है कि यूपी के हाथरस की घटना से लेकर मध्य प्रदेश के गैंग रेप मामलों को लेकर बीजेपी और कांग्रेस एक दूसरे के खिलाफ आरोप- प्रत्यारोप की सियासत कर रहे हैं.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here