मुहर्रम के पहले कुंडा में हमेशा तनाव क्यों, राजा उदय को क्यों किया जाता है हाउस अरेस्ट; जानें 7 साल पुरानी कहानी

0
15


प्रतापगढ़: उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में मुहर्रम नजदीक आते ही शेखपुर गांव में तनाव बढ़ जाता है. इस गांव का इतिहास रहा है कि यहां 10 दिन पहले ही फोर्स तैनात कर दी जाती है. पुलिस की कड़ी निगरानी में मुहर्रम को संपन्न कराया जाता है. इस बार भी माहौल कुछ ऐसा ही है. राजा भैया के पिता राजा उदय प्रताप सिंह को पुलिस ने हाउस अरेस्ट कर लिया है. वह कुंडा तहसील में मजहबी गेट हटाने के लिए धरना दे रहे थे. तो चलिए जानते हैं आखिर कब और कहां से उत्पन हुई शेखपुर गांव में मुहर्रम के पहले विवाद की यह स्थिति.

दरसअल, बात 2012 की है, जब कुंडा के शेखपुर गांव में सड़क के किनारे एक बंदर की मौत हो गई थी, जिसके बाद वहां ग्रामीणों ने एक हनुमान मंदिर का निर्माण कर दिया. इसके बाद वहां हनुमान पाठ और भंडारे का आयोजन किया जाने लगा. इसका आयोजन राजा उदय प्रताप सिंह ही करते थे. यह भंडारा मुहर्रम के दिन ही होता था. 2013 और 2014 में दो साल भंडारा और मुहर्रम का जुलूस साथ निकला, लेकिन 2015 के मुहर्रम पर मुस्लिम समुदाय ने हनुमान मंदिर पर भंडारे और झंडे का विरोध करते हुए अपनी ताजिया नहीं उठाई और जमकर विरोध प्रदर्शन किया. इसके बाद बाद मामला पुलिस-प्रशासन तक पहुंच गया.

वहीं, मुहर्रम के दसवीं के अगले दिन तत्कालीन डीएम-एसपी ने मामले को शांत कराते हुए ताजिया को दफन कराया. वहीं 2016 में शेखपुर में तनाव की स्थिति हो गई, क्योंकि जिला प्रशासन ने राजा उदय प्रताप सिंह को भंडारे करने की अनुमति नहीं दी. हनुमान मंदिर पर भंडारे को लेकर मामला हाईकोर्ट तक पहुंच गया, लेकिन कोर्ट ने डीएम को अपने विवेक से निर्णय के लिए निर्देशित किया. इसके बाद से राजा उदय प्रताप सिंह को हर बार मुहर्रम में हाउस अरेस्ट कर लिया जाता है.

कुंडा तहसील में धरने के दौरान राजा भैया के पिता उदय प्रतार सिंह

इस तरह 2016-22 के बीच राजा उदय प्रताप सिंह को पांच बार हाउस अरेस्ट किया गया है. हर बार पुलिस की मौजदगी में ही मुहर्रम का जुलूस सम्पन कराया जाता है और इस दिन प्रशासन भंडारे की अनुमति प्रशासन नहीं देता हैं. सात साल से प्रशासन इसी तरह से एक्श लेता है, मगर अब तक इस मामले का निपटारा नहीं हो पाया है.

7 अगस्त तक हाउस अरेस्ट रहेंगे राजा
इस बार भी मुहर्रम से ठीक पहले राजा उदय प्रताप सिंह को पुलिस ने गुरुवार को भदरी महल में हाउस अरेस्ट कर लिया. अब 7 अगस्त तक राजा हाउस अरेस्ट रहेंगे. वहीं उनके समर्थन में आये विहिप के नेताओ और हिन्दू वादी संगठन से जुड़े लोगों को हौदेवरनाथ धाम में रोका गया है. एसडीएम कुंडा ने बताया कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए इस आदेश पर विचार किया जाएगा,

Tags: Pratapgarh news, Uttar pradesh news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here