मेरठ के छोले-कुल्चे का स्वाद ऐसा की मन नहीं भरता, खाने के शौकीन एक बार करें ट्राय

0
41


रिपोर्ट- विशाल भटनागर, मेरठ

मेरठ: अगर आप छोले और कुल्चे (Chole kulche) खाने के शौकीन हैं. आप लाजवाब स्वाद की तलाश कर रहे हैं. तो आज हम इस खबर में कुछ इसी तरह के एक छोले-कुल्चे की दुकान के बारे में बताएंगे. जिसका स्वाद लोगों की जुबां पर कई सालों से कब्जा जामाए हुए है. वर्ष 1966 से लगातार खाने की शौकीन उसी दुकान पर पहुंच रहे हैं. जी हां हम बात कर रहे हैं मेरठ Meerut के एनएसस कॉलेज के निकट रामचरण चाट भंडार (Ram Charan chaat bhandar) वाले की. जिनके यहां मेरठ ही नहीं बल्कि दूसरे देशभर से लोग छोले-कुल्चे खाने के लिए आते रहते हैं.

वर्ष 1966 में की थी शुरुआत
रामचरण के बेटे वीरू सिंह ने बताया कि, उनके पिता ने वर्ष 1966 में सबसे पहले ठेला लगाकर छोले-कुल्चे बेचने की शुरुआत की थी. तब पिता जी ने भी नहीं सोचा था कि इस कदर लोगों का स्नेह मिलेगा. वीरू सिंह बताते हैं कि, बड़ी दुकान होने के बावजूद यहां लोगों को अपने नंबर के लिए इंतजार करना पड़ता है.

क्वालिटी और स्वाद को रखा कायम
वीरू सिंह का कहना है कि, आस-पास भले ही आपको 30 से 40 रुपए प्रति छोले-कुल्चे की प्लेट मिल जाएगी. लेकिन हमारे यहां 60 रुपए प्रति प्लेट ही आपको छोले-कुल्चे खाने के लिए मिलेंगे. इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि, हमने कभी भी क्वालिटी और स्वाद के समझौता नहीं किया.

जानिए क्या है स्वाद का राज
छोले में विभिन्न प्रकार के मसाले के साथ तले हुए आलू और फलों को भी मिलाया जाता है. साथ ही पेड़ों के पत्तों पर छोले को सजाकर दिया जाता है. इसमें प्याज नींबू सहित अन्य प्रकार की चीजें मिलाई जाती हैं. अगर आप भी छोले कुल्चे खाने के लिए इस दुकान पर जाना चाहते हैं.

तो एनएसस कॉलेज के पास गूगल मैप का सहारा लेते हुए आप सुबह 10 बजे से छोले- कुल्चे का आनंद ले सकते हैं. यहां पर आपको सादा कुल्चे, मसाला कुल्चे, रुमाली रोटी, मुरादाबादी दाल आदि भी खाने को मिल जाएगी.

Tags: Food Recipe, Meerut news, Meerut news today, Street Food



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here