मेरठ मेडिकल कॉलेज में लाखों की मशीनें फांक रहीं धूल, मुफ्त योजनाएं पस्त

0
25


हाइलाइट्स

मेरठ मेडिकल कॉलेज में नहीं हो पा रहे एक्स-रे.
रेडियोलॉजिस्ट के पद पड़े हैं खाली.

विशाल भटनागर 

मेरठ. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गरीब मरीजों को नि:शुल्क इलाज मिल सके, इसे लेकर कई योजनाएं चलाई जा रही हैं. हालांकि इन योजनाओं का लाभ मरीजों को नहीं मिल पा रहा है. चिकित्सकों के अभाव में लाखों की मशीनें धूल फांक रही हैं और मरीजों को निजी अस्पतालों की ओर रुख करना पड़ रहा है. मेरठ मेडिकल कॉलेज में इसकी बानगी देखने को मिल रही है. यहां लाखों रुपए की एमआरआई, सीटी स्कैन मशीनें तो हैं, लेकिन कोई रेडियोलॉजिस्ट तैनात नहीं है. जिसकी वजह से मरीजों की जांच मेडिकल कॉलेज में नहीं हो पा रही हैं और मरीजों को मजबूरन अन्य प्राइवेट अस्पतालों का रुख करना पड़ रहा है.

सिर्फ भर्ती मरीजों को ही मिल रही है सुविधा
इसके साथ ही एक समस्या यह भी है कि रेडियोलॉजिस्ट न होने के कारण जो मेडिकल कॉलेज में मरीज भर्ती हैं, सिर्फ उनके लिए ही एक्स-रे सहित अन्य सुविधाएं दी जा रही है. जबकि अन्य मरीज अगर निर्धारित शुल्क जमा कर अपना एक्स-रे कराने के लिए मेडिकल कॉलेज में पहुंचते हैं, तो उनको नई तारीख दे दी जाती है.

वेस्ट यूपी का सबसे बड़ा अस्पताल है मेडिकल कॉलेज
लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज की बात करें तो यहां हर रोज बड़ी संख्या में मरीज अपना उपचार कराने के लिए आते हैं. रेडियोलॉजिस्ट न होने के कारण मरीजों को एक्स-रे सहित अन्य प्रकार की जांच कराने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. जिसके बाद वह बाहर लैब से एक्स-रे करवाते हैं, जहां उन्हें मोटी फीस देनी पड़ती है. वहीं, मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य आरसी गुप्ता का कहना है कि शासन को रेडियोलॉजिस्ट प्रोफेसर की नियुक्ति के लिए पत्र लिख दिया गया है ताकि जल्द से जल्द मेडिकल कॉलेज में यह सुविधा शुरू हो जाए.

वर्ष 2018 से नहीं है स्थाई रेडियोलॉजिस्ट
गौरतलब है कि मेडिकल कॉलेज में वर्ष 2018 में प्रोफेसर रेडियोलॉजिस्ट डॉ. यास्मीन का सहारनपुर ट्रांसफर हो गया था. उसके बाद उन पर मेरठ का भी डबल चार्ज था लेकिन अब सिर्फ सहारनपुर का ही चार्ज है. यही कारण है कि अब समस्या और बढ़ गई है. गौरतलब है कि सिटी स्कैन, एक्स-रे, एमआरआई सहित अन्य प्रकार की जांच टेक्नीशियन द्वारा की जाती है. फिर उस रिपोर्ट की बारीकियां रेडियोलॉजिस्ट देखता है और बीमारी की विस्तृत जानकारी देता है.

Tags: Meerut Medical College, Meerut news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here