मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव: पिछड़ी जाति पर दांव खेल सकती है बीजेपी, इन नामों पर चल रहा मंथन

0
12


हाइलाइट्स

आज तक एक बार भी मैनपुरी लोकसभा सीट नहीं जीत पाई है बीजेपी
बीजेपी शाक्य और ठाकुर प्रत्याशी पर दांव खेल सकती है
मैनपुरी संसदीय सीट की 5 विधानसभा सीटों में से 3 पर सपा और 2 पर बीजेपी का कब्ज़ा

मैनपुरी. समाजवादी पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन से खाली हुई मैनपुरी लोकसभा सीट पर उपचुनाव की घोषणा हो चुकी है. समाजवादी पार्टी के इस अभेद्य किले को भेदने के लिए बीजेपी में प्रत्याशी को लेकर मंथन जारी हैं. संभावित प्रत्याशी को लेकर शीर्ष नेतृत्व जिले से भेजी गए नामों पर मंथन कर रहा है. सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक बीजेपी सपा के इस गढ़ में पिछड़ी जाति के उम्मीदवार पर दांव खेल सकती है.

जानकारी के मुताबिक पूर्व सांसद रघुराज सिंह शाक्य, विधायक ममतेश शाक्य, राहुल राठौर, तृप्ति शाक्य, प्रेम सिंह शाक्य समेत कई नामों पर पार्टी में चर्चा चल रही है. दरअसल, नेताजी मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद उनकी परंपरागत सीट मैनपुरी पर कब्जे के लिए बड़ी रणनीति बनाई है. बीजेपी जातीय समीकरणों को ध्यान में रखते हुए ठाकुर या फिर शाक्य उम्मीदवार को टिकट दे सकती है.

अभी तक बीजेपी को नहीं मिली है जीत

दरअसल, आज तक मैनपुरी संसदीय सीट पर बीजेपी कभी जीत हासिल नहीं कर सकी है. हां यह बात भी सही है कि बीजेपी ने जीत का अंतर कम करने में जरूर कामयाब रही है. 2019 में सपा-बसपा गठबंधन के बावजूद नेताजी मुलायम सिंह यादव करीब 95 हजार वोट से ही जीत पाए थे. बता दें कि मैनपुरी यादव बाहुल सीट मानी जाती है. मैनपुरी संसदीय सीट से जुड़ी जसवंतनगर, करहल और किशनी विधानसभा सीटों पर शिवपाल यादव, अखिलेश यादव और ब्रजेश के रूप में सपा का कब्जा है, जबकि मैनपुरी सीट और भोगांव सीट पर बीजेपी के जयवीर सिंह और रामनरेश अग्निहोत्री का कब्ज़ा है. ऐसे में माना जा रहा है कि मैनपुरी की लड़ाई दिलचस्प होने वाली है.

Tags: Mainpuri News, UP latest news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here