मोहम्मद जुबैर के खिलाफ अब हाथरस सीजेएम कोर्ट ने जारी किया वारंट, यहां दर्ज हैं 2 मुकदमें

0
21


हाथरस. ऑल्ट न्यूज के को-फाउंडर मोहम्मद जुबैर की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. जुबैर के खिलाफ हाथरस में धार्मिक भावनाओं को भड़काने के मामले में दो केस दर्ज हैं. इनमें से एक मामले में हाथरस की सीजेएम कोर्ट ने जुबैर के खिलाफ वारंट जारी कर दिया है. उन्हें 14 जुलाई को कोर्ट में पेश होने के लिए कहा गया है. बता दें कि कोतवाली सदर और सिकंदराराऊ में जुबैर के खिलाफ केस दर्ज हैं.

वहीं आज शाम को यूपी सरकार ने मोहम्मद जुबैर के खिलाफ यूपी के कई जिलों में दर्ज मुकदमों की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया है. उन पर धार्मिक भावनाओं काे भड़काने का आरोप है. ऐसे ही दो केस हाथरस में दर्ज हैं, जिसमें एक मुकदमे में सीजेएम कोर्ट से पुलिस बी वारंट जारी करा चुकी है.

साथ ही वारंट को सीतापुर जेल में तामील करा दिया गया है. जुबैर इसी जेल में सीतापुर पुलिस की न्यायिक हिरासत में है. 14 जुलाई को पुलिस उसे कोर्ट में पेश करेगी. मोहम्मद जुबैर पुत्र मोहम्मद रफीक निवासी बैगलोर नार्थ कनार्टक और स्थाई निवासी थली हुसुर जिला धर्मपुरी तमिलनाड़ पर चैनलों के एंकर पर व्यंगात्मक टिप्पणी और हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को भड़काने और देवी देवताओं के अपमान के आरोप में यूपी में अब तक छह मुकदमे दर्ज हैं.

सीतापुर से मोहम्मद जुबैर को तिहाड़ जेल भेजा
कोतवाली सदर में दीपक शर्मा ने मोहम्मद जुबैर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है. उसके खिलाफ 153 ए 295 ए, 298 व 67 आईटी एक्ट के तहत मुकदमे दर्ज हैं. सिकंदराराऊ कोतवाली में 147, 148, 153 ए, 353, 188, 120 बी और 7 सीएलए एक्ट में मुकदमा दर्ज हैं. यह मुकदमा पुरदिलनगर के चौकी इंचार्ज सोनू राजौरा ने दर्ज कराया था. कोतवाली सदर पुलिस ने सीजेएम कोर्ट से जुबेर के खिलाफ बी वारंट जारी कराकर उसे सीतापुर जिला कारागार में दाखिल कर दिया है. मगर अब जुबैर को सीतापुरा से तिहाड़ जेल दिल्ली भेज दिया गया है. इसलिए अब 14 जुलाई को पुलिस उसे सीजेएम कोर्ट में पेश करेगी.

पुरदिलनगर में हुआ था खूब उपद्रव

जुबेर की भड़काऊ पोस्ट के बाद पुरदिलनगर में जुमे की नमाज के बाद खूब बवाल हुआ. उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव कर डाला. इस मामले में पुलिस ने 52 लोगों को जेल भेज दिया है. सिकंदराराऊ पुलिस ने इस मुकदमे में जुबैर को आरोपी बनाया है. जुबैर के खिलाफ दर्ज मुकदमे की विवेचना के लिये शासन ने आईजी जेल डॉ प्रीतिन्दर सिंह की अध्यक्षता में एसआईटी टीम गठित कर दी है. इसमें डीआईजी अमित वर्मा शामिल किये गये है. इसलिए एसआईटी टीम हाथरस आकर जांच करेगी. एसपी हाथरस विकास कुमार वैद्य ने कहा कि मोहम्मद जुबैर के खिलाफ हाथरस जनपद में दो मुकदमे दर्ज हैं. एक मुकदमे में बी वारंट जारी हो चुका है. उसे दाखिल कर दिया गया है.

Tags: Hathras Case, Hathras Police, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here