मौसम का बदला मिजाज, बादल छाने से तापमान बढ़ा, कई इलाकों कोहरा

0
55


श्रीगंगानगर और कोटा जिला कोहरे की आगोश मे हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

Rajasthan weather updates: राजस्‍थान में गुरुवार को मौसम का मिजाज बदला हुआ है. कई इलाकों में बादल छाये हुये हैं. वहीं कई जिले कोहरे (Fog) की आगोश में हैं.

जयपुर. मकर संक्रांति (Makar Sankranti) पर प्रदेश में मौसम (Weather) ने एक बार फिर पलटा खाया है. कई इलाकों में बादल छाये हुये हैं. सूरज बादलों की ओट में छिपा हुआ है. वहीं, तापमान में बढ़ोतरी हो जाने से सर्दी (Winter) का जोर कुछ कम हुआ है. राजधानी जयपुर में गुरुवार अलसुबह 8 डिग्री तापमान दर्ज किया गया. दूसरी तरफ श्रीगंगानगर में जिला पूरी तरह से धुंध की आगोश में समाया हुआ है. कोटा में भी कोहरा छाया हुआ.

मौसम में आये बदलाव के कारण जयपुर में बादल छाये हुये हैं. सर्द हवायें न चलने से सर्दी से थोड़ी राहत मिली हुई है. पिछले कई दिनों से जयपुर में सुबह का तापमान 6 डिग्री के आसपास बना हुआ था. गुरुवार को मकर संक्रांति होने के कारण लोग पंतगबाजी के लिये छतों पर चढ़े हुये हैं. सर्दी कम होने से पंतगबाजों ने राहत की सांस ली है.

कोहरे की आगोश में है श्रीगंगानगर
श्रीगंगानगर जिला घने कोहरे में लिपटा हुआ है. घने कोहरे की वजह से विजिबिलिटी घट गई है. इससे वाहन रेंग-रेंगकर चलने को मजबूर हो रहे हैं. सर्द हवायें चलने से लोगों को सर्दी से बिल्कुल भी राहत नहीं मिल पाई है. हाड़ कंपकंपाने वाली सर्दी ने लोगों की धूजणी छुड़ा रखी है. मौसम विभाग ने अभी और सर्द हवायें चलने की संभावना जताई है.कोटा में भी उछला तापमापी पारा, करौली में छाये हैं काले बादल

कोटा में भी तापमापी पारे में उछाल आया है. वहां न्यूनतम तापमान में 1 डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. कोटा में आज सुबह 8.8 डिग्री तापमान दर्ज किया गया है. लेकिन कोहरे के कारण वहां भी विजिबिलिटी कम बनी हुई है. वहीं प्रदेश के करौली क्षेत्र का मिजाज पूरी तरह से बिगड़ा हुआ है. वहां आसमान में काले घने बादल छाये हुये हैं. न्यूनतम तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है. इससे सर्दी के तेवर यथावत बने हुये हैं.


<!–

–>

<!–

–>


! function(f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function() {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
};
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
}(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here