यमुना में प्रदूषण पर SC सख्त, दिल्ली जल बोर्ड की याचिका पर हरियाणा-CPCB को भेजा नोटिस

0
29


यमुना नदी में हर साल दिसंबर से फरवरी के बीच अमोनिया की मात्रा में बढ़ोतरी पर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) द्वारा गठित निगरानी समिति ने गंभीरता से लिया है. (PTI)

दिल्ली जल बोर्ड का आरोप था कि हरियाणा से गंदा पानी आ रहा है. इस पानी में अमोनिया की मात्रा ज्यादा है, जो यमुना को प्रदूषित कर रही है. यमुना में प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने स्वतः संज्ञान लिया. कोर्ट ने सीनियर एडवोकेट मीनाक्षी अरोड़ा को न्यायमित्र (Amicus curiae) नियुक्त किया.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 13, 2021, 1:12 PM IST

नई दिल्ली. यमुना नदी में प्रदूषण को लेकर दिल्ली जल बोर्ड (Delhi Jal Board) की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने हरियाणा सरकार और सेंट्रल प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड (CPCB) को नोटिस जारी किया है. दिल्ली जल बोर्ड का आरोप था कि हरियाणा से गंदा पानी आ रहा है. इस पानी में अमोनिया की मात्रा ज्यादा है, जो यमुना को प्रदूषित कर रही है. प्रदूषित यमुना के पानी के इस्तेमाल से कैंसर फैलने का खतरा है.

यमुना में प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने स्वतः संज्ञान लिया. कोर्ट ने सीनियर एडवोकेट मीनाक्षी अरोड़ा को न्यायमित्र (Amicus curiae) नियुक्त किया.

यमुना नदी में हर साल दिसंबर से फरवरी के बीच अमोनिया की मात्रा में बढ़ोतरी पर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) द्वारा गठित निगरानी समिति ने गंभीरता से लिया है. यमुना निगरानी समिति ने केंद्रीय प्रदूषण नियंणत्र बोर्ड (सीपीसीबी) को नदी में अमोनिया बढ़ने के मुख्य श्रोत (कारण) का पता लगाने और सुधार के लिए समुचित कदम उठाने को कहा है.

समिति ने मीडिया में आई उस खबर पर संज्ञान लेते हुए यह आदेश दिया है जिसमें कहा गया है कि वजीराबाद के पास यमुना नदी में अमोनिया का स्तर बढ़कर 7 पीपीएम (पार्ट्स पर मिलियन) हो गया, जबकि तय मानक के हिसाब से यह 0.8 पीपीएम से अधिक नहीं होना चाहिए. इसके साथ ही, दिल्ली जल बोर्ड ने भी आरोप लगाया है कि बार-बार ध्यान दिलाए जाने के बावजूद हरियाणा ने औद्योगिक इकाइयों से निकलने वाले गंदे पानी का बहाव रोकने के लिए समुचित कदम नहीं उठाया है. साथ ही जल बोर्ड ने सीपीसीबी से तुरंत समाधान के लिए उपाय करने का आग्रह भी किया है.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here