यूपी: अब कानपुर में शुरू होगा नगर निगम का एक्शन, इन इमारतों पर चलेगा बुलडोजर; जानें वजह

0
28


कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में अगले महीने बुलडोजर एक्शन देखने को मिलेगा. कानपुर की मेयर प्रमिला पांडे ने नगर निगम की एक मीटिंग की और सभी जोन के अधिकारियों को आदेश दिया कि जर्जर चिन्हित इमारतों को अब नोटिस दिया जाए और उन पर बुलडोजर चलाया जाए. दरअसल, यह आदेश शहर की उन जर्जर इमारतों के लिए जारी किए गए हैं, जहां पर नोटिस के बावजूद लोग रह रहे हैं.

जर्जर मकानों को लेकर मेयर प्रमिला पांडे इसलिए भी सख्त हुई हैं क्योंकि पिछले सप्ताह शहर के घंटाघर चौराहे पर जर्जर मकान का कुछ हिस्सा गिरने से लोग दब गए थे और उसमें एक दिव्यांग बुजुर्ग नफीस की मौत हो गई थी. पिछले दो साल में कानपुर शहर में जर्जर मकानों की इमारत गिरने से तीन बड़े हादसे हुए हैं, जिनमें कई लोगों की मौत भी हुई है. इसको देखते हुए मेयर प्रमिला पांडे ने नगर निगम जोन के सभी अधिकारियों के साथ एक बैठक की, जिसमें यह निर्देश दिए गए कि 5 अगस्त तक शहर के सभी जर्जर मकानों की लिस्ट तैयार कर ली जाए और उन्हें नोटिस भेज दिया जाए. नोटिस भेजने के बाद अति जर्जर मकानों को बुलडोजर से गिरा दिया जाए.

इस मीटिंग में नगर निगम के जोनल अधिकारी भी मौजूद थे. उन्होंने यह भी बताया कि बारिश के मौसम में जर्जर मकानों को नोटिस जारी किए जाते हैं और इस साल भी 410 मकान ऐसे हैं, जिन्हें नोटिस जारी किया गया है और जल्द ही शहर की अन्य ऐसी इमारतें, जो जर्जर हैं और वहां लोग रह रहे हैं, उन्हें नोटिस जारी किया जाएगा और लिस्ट बनाकर अति जर्जर मकानों पर बुलडोजर चलाया जाएगा.

नगर निगम की टीम जर्जर मकानों को चिन्हित करने के लिए शहर के पुराने इलाकों को सबसे पहले चिन्हित करेगी, जहां पर मकानों की वीडियोग्राफी- फोटोग्राफी कराई जाएगी और इसकी भी जानकारी ली जाएगी कि यहां पर मकान मालिक या किराएदार रह रहे हैं. मेयर प्रमिला पांडेय ने यह भी कहा कि जरूरत पड़ने पर वह खुद नगर निगम की टीम के साथ अति जर्जर मकानों पर बुलडोजर की कार्रवाई के लिए जाएंगी, क्योंकि जर्जर मकानों में रहने से लोगों की जिंदगी खतरे में है और लोगों की जिंदगी अमूल्य है.

Tags: Kanpur news, UP bulldozer action, Uttar pradesh news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here