यूपी के 21 लाख किसानों से वापस ली जाएगी ‘पीएम किसान सम्मान निधि’, कृषि मंत्री शाही ने बताई बड़ी वजह

0
78


हाइलाइट्स

मंत्री ने बताया कि इनमें से बहुत से मामले ऐसे हैं जिनमें पति और पत्नी दोनों को ही इस निधि का लाभ ले रहे हैं.
शाही ने बताया कि अपात्र किसानों से इस योजना के तहत अब तक उन्हें दी गई रकम वसूली जाएगी.
उन्होंने बताया कि किसान सम्मान निधि की 12वीं किस्त इस महीने के अंत तक जारी की जाएगी.

लखनऊ: प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत उत्तर प्रदेश में चयनित 21 लाख किसान जांच में अपात्र पाए गए हैं. उनसे उन्हें इस योजना के तहत अब तक दी गई धनराशि की वसूली की जाएगी. प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने बुधवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि राज्य में केंद्र की महत्वाकांक्षी योजना ‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि’ के तहत कुल दो करोड़ 85 लाख किसान चयनित किए गए थे जिनमें से 21 लाख काश्तकार अपात्र पाए गए हैं.

उन्होंने बताया कि इनमें से बहुत से मामले ऐसे हैं जिनमें पति और पत्नी दोनों को ही इस निधि का लाभ प्राप्त हो रहा है. शाही ने बताया कि अपात्र पाए गए किसानों से उन्हें इस योजना के तहत अब तक दी गई रकम की वसूली की जाएगी. उन्होंने बताया कि किसान सम्मान निधि की 12वीं किस्त इस महीने के अंत तक जारी की जाएगी और जिन किसानों का भूलेख अंकन और स्थलीय सत्यापन का कार्य पीएम किसान पोर्टल पर अपलोड होगा उन्हें ही इस योजना का लाभ दिया जाएगा.

किसान पोर्टल पर चल रहा है डेटा अपलोड का काम
हालांकि, कृषि विभाग के अपर मुख्य सचिव देवेश चतुर्वेदी ने स्पष्ट किया कि किसान पोर्टल पर डाटा अपलोड की कार्यवाही युद्ध स्तर पर की जा रही है और सभी पात्र किसानों को किसान सम्मान निधि की 12वीं किस्त जरूर दी जाएगी. कृषि मंत्री ने बताया कि अभी तक कुल एक करोड़ 51 लाख किसानों का पोर्टल पर भूलेख अंकन का काम किया जा चुका है. उन्होंने किसानों से अपील की कि वे जल्द से जल्द अपना डाटा पोर्टल पर अपलोड करा लें.

Tags: PM Kisan Samman Nidhi, PM Kisan Samman Nidhi Yojana, UP Kisan, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here