राकेश टिकैत ने भरी हुंकार, कहा- कृषि कानून वापसी, नहीं तो गद्दी वापसी

0
14


बीकेयू के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने जींद महापंचायत में कृषि कानूनों के बहाने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को चुनौती दी है

जींद महापंचायत (Jind Mahapanchayat) में भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि यदि कृषि कानूनों (Farm Laws) को वापस नहीं लिया जाता तो नरेंद्र मोदी सरकार का सत्ता में बने रहना मुश्किल है

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    February 3, 2021, 11:24 PM IST

जींद. भारतीय किसान यूनियन (BKU) के प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने नए कृषि कानूनों को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Modi Government) को धमकी दी है. जींद महापंचायत (Jind Mahapanchayat) में उन्होंने कहा कि यदि कृषि कानूनों (Farm Laws) को वापस नहीं लिया जाता तो नरेंद्र मोदी सरकार का सत्ता में बने रहना मुश्किल है. महापंचायत में राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार को चुनौती देते हुए कहा है कि हमने अभी सरकार से बिल वापस की बात कही है, अगर हमने गद्दी वापसी की बात कर दी तो सरकार का क्या होगा. अभी समय है सरकार संभल जाए.

इससे पहले बुधवार को जींद में आयोजित किसानों की महापंचायत में केंद्रीय कृषि कानूनों को वापस लेने का प्रस्ताव पास किया गया. महापंचायत में किसानों ने स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट लागू करने की भी मांग की. इसके अलावा लापता किसानों का पता लगाने और किसानों पर दर्ज केस वापस लेने की मांग भी की गई है.

राकेश टिकैत ने भरी हुंकार, कहा- कृषि कानून वापसी, नहीं तो गद्दी वापसी

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई का ट्वीट

बता दें कि बीते 26 नवंबर से पंजाब-हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों के किसान दिल्ली के गाजीपुर, टिकरी और सिंघु बॉर्डर पर धरना दे रहे हैं. आंदोलनकारी किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को अविलंब वापस ले. सरकार और किसान संगठनों के प्रतिनिधियों के बीच अब तक ग्यारह दौर की बातचीत हो चुकी है. मगर इस मुद्दे पर दोनों पक्षों के बीच गतिरोध बना हुआ है. किसान अपने आंदोलन को लेकर आठ दिसंबर को भारत बंद और 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड निकाल चुके हैं.






Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here