राजस्थान में कौओं ही नहीं अन्य परिंदों को भी होने लगी असामान्य मौतें, झालावाड़ में सामने आये केस

0
43


झालावाड़ जिले में कौओं के साथ बगुले, कोयल, तोतों और मोरों के भी असामान्य मौत के मामले सामने आये हैं.

Bird flu: राजस्थान में अब कौओं के साथ-साथ अन्य परिदों की भी आकस्मिक और असामान्य मौतें (Unusual deaths) होने लग गई है. झालावाड़ जिले में इस तरह के केस सामने आने के बाद प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है.

झालावाड़. प्रदेश में कई जगह बर्ड फ्लू (Bird flu) से मारे जा रहे कौओं के साथ-साथ अब अन्य पक्षियों की भी असामान्य मौतें (Unusual deaths) होने लग गई है. झालावाड़ जिले में मंगलवार शाम तक बीते 24 घंटों में 34 कौओं समेत 53 पक्षियों ने दम तोड़ दिया. जिले में कौओं (Crows) समेत अन्य परिंदों की मौत का आंकड़ा 191 से भी ऊपर पहुंच गया है. पशुपालन विभाग और नगर परिषद के कार्मिकों ने इन मृत कौओं व अन्य पक्षियों का नियमानुसार गड्ढा खोदकर एवं जलाकर निस्तारण किया. शहर के राड़ी के बालाजी इलाके में लगातार निषेधाज्ञा जारी है.

झालावाड़ शहर के राडी के बालाजी मंदिर इलाके में ही बर्ड फ्लू के कारण सबसे ज्यादा कौओं की मौत के मामले सामने आए हैं. उसके बाद प्रशासन ने इस इलाके में निषेधाज्ञा लागू कर जीरो मोबिलिटी लागू कर रखी है. वहीं अब कौओं के साथ कोयल, तोते और मोरों की भी असामान्य मौत हुई हैं. इससे जिला प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है.

पोल्ट्री फार्म और अंडों की दुकानों पर से सैम्पल करवाने के निर्देशप्रशासन ने सतर्कता बरतते हुये इलाके के पोल्ट्री फार्म और अंडों की दुकानों पर से सैम्पल करवाने के भी निर्देश दिए हैं. वहीं जिला प्रशासन के आला अधिकारियों ने भी संक्रमित क्षेत्र का जायजा लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिये हैं. जिले में कौओं के साथ बगुले, कोयल, तोतों और मोरों के भी असामान्य मौत के मामले सामने आने के बाद वन विभाग ने इन क्षेत्रों में स्थित जल स्त्रोतों और अन्य वन्यजीवों के विचरण वाले स्थलों पर निगरानी बढ़ाते हुए कंट्रोल रूम बनाए हैं. प्रशासन ने आमजन से अपील की है कि उनके आसपास कोई भी मृत पक्षी दिखाई दे तो उसकी सूचना तुरंत कंट्रोल रूम पर दे. शहर के पोल्ट्री फार्म पर भी सैंपलिंग की जा रही है. प्रशासन के अधिकारी लगातार पूरे मामले पर नजर बनाए हुए हैं.

अब तक करीब 600 पक्षियों की हो चुकी है मौत
उल्लेखनीय है पक्षियों की बढ़ती असामान्य मौत से राज्य सरकार चिंतित है. अब तक 3 जिलों में बर्ड फ्लू के पॉजीटिव मामले सामने आ चुके हैं. उसके बाद राज्य सरकार ने दूसरे राज्यों से लगती सीमा पर सतर्कता बढ़ा दी है. वहीं राजधानी जयपुर में ही जांच लैब स्थापित करने के प्रयास भी किए जा रहे हैं. हालांकि राजस्थान में अभी तक पॉल्ट्री में बर्ड फ्लू का कोई मामला सामने नहीं आया है लेकिन संभावित खतरे को लेकर सरकार सतर्क है. मंगलवार शाम तक प्रदेश करीब 600 पक्षियों की मौत हो चुकी है. जांच के लिए अब तक 86 सैम्पल भोपाल स्थित लैब भेजे गए हैं. पशुपालन विभाग के मंत्री लालचन्द कटारिया ने अधिकारियों की मीटिंग लेकर हालात की समीक्षा की है.


<!–

–>

<!–

–>


! function(f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function() {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
};
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
}(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here