राजू श्रीवास्तव: जब चुनाव से पहले सपा का टिकट वापस कर ‘गजोधर भैया’ ने था चौंकाया, जानें वह किस्सा

0
12


नई दिल्ली: मजेदार और चुटीले अंदाज में कॉमेडी से सबको हंसाने वाले मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया. 41 दिनों तक दिल्ली के एम्स अस्पताल में जिंदगी और मौत की जंग लड़ने वाले हास्य कलाकार और अभिनेता राजू श्रीवास्तव का बुधवार की सुबह निधन हो गया. ‘गजोधर भैया’ के नाम से मशहूर राजू बीते 41 दिनों से दिल्ली एम्स में भर्ती थे, क्योंकि 10 अगस्त को जिम में वर्कआउट करने के दौरान राजू उन्हें हार्ट अटैक आया था. मनोरंजन जगत में अपनी अनोखी छाप छोड़ने के बाद राजू श्रीवास्तव ने कॉमेडी के अलावा सियासत में भी कदम रखा था, मगर इसमें कुछ खास नहीं कर पाए.

लोगों को अपनी कॉमेडी से हंसाने वाले राजू श्रीवास्तव जन्मभूमि कानपुर से ही राजनीति में कदम रखने का फैसला किया था. इसके लिए वह समाजवादी पार्टी की ओर से चुनावी मैदान में उतर भी चुके थे. साल 2014 के मार्च महीने में समाजवादी पार्टी ने राजू श्रीवास्तव को उत्तर प्रदेश के कानपुर से लोकसभा चुनाव के लिए टिकट दिया, मगर राजू श्रीवास्तव ने 11 मार्च को अचानक सपा का टिकट लौटाकर सबको चौंका दिया और चुनाव न लड़ने का फैसला लिया. सपा का टिकट वापस करने को लेकर राजू ने दलील दी थी कि कानपुर की सपा इकाई उन्हें सहयोग नहीं कर रही थी और मुलायम सिंह यादव व अखिलेश यादव के निर्देशों का भी पालन नहीं कर रही थी.

सपा को छोड़ भाजपा में आए थे राजू
हालांकि, राजू श्रीवास्तव के इस फैसले के बाद लगा कि उनका राजनीति से बहुत जल्द ही मोहभंग हो गया और अब वह सियासत से खुद को अलग कर लेंगे, मगर सपा से अलग होने के कुछ दिन बाद ही 19 मार्च 2014 को राजू श्रीवास्तव ने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया. कहा जाता है कि राजू श्रीवास्तव उस वक्त पीएम मोदी की लोकप्रियता से प्रभावित हुए थे और इसी वजह से वह भाजपा में शामिल हुए थे. राजू भाजपा के लिए प्रचार में भी शामिल रहे थे. हालांकि, वह चुनाव नहीं लड़ पाए.

भाजपा में जाने का राजू को मिला ‘इनाम’
2014 में प्रचंड जीत के बाद जब केंद्र में भाजपा की अगुवाई में एनडीए की सरकार बनी तो स्वच्छ भारत अभियान के लिए राजू श्रीवास्तव को पीएम मोदी ने नॉमिनेट किया. इसके अलावा राजू श्रीवास्तव उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष के रूप में अभी कार्यरत थे. उन्हें साल 2019 में ये जिम्मेदारी मिली थी. चेयरमैन बनने के बाद न्‍यूज 18 ह‍िंदी से बात करते श्रीवास्तव ने एक बार कहा था कि क्‍यों हम सालों तक मुंबई में जाकर भटकें, जबक‍ि कई लोग द‍िल्‍ली, यूपी, एमपी और ब‍िहार से ही वहां जाते हैं. अगर यहां फिल्‍म स‍िटी बनती है तो कई क्षेत्रीय कहाकारों को यहां काम करने का और अपना हुनर द‍िखाने का मौका म‍िलेगा.

मनोरंजन जगत का सफर
मनोरंजन जगत में 1980 के दशक के अंत से सक्रिय राजू श्रीवास्तव को 2005 में स्टैंड-अप कॉमेडी शो ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ के पहले सीजन में भाग लेने के बाद काफी लोकप्रियता मिली थी. उन्होंने ‘मैंने प्यार किया’, ‘बाजीगर’, ‘बॉम्बे टू गोवा’ (रीमेक) और ‘आमदनी अठन्नी खर्चा रुपैया’ जैसी फिल्मों में अभिनय किया। वह ‘बिग बॉस’ सीजन तीन में नजर आए थे.

Tags: Kanpur news, Raju Srivastav



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here