रुपेश सिंह हत्‍याकांड को लेकर तेजस्वी यादव का नीतीश पर ‘प्रहार’, कहा- बिहार गलत हाथों में चला गया

0
29


पटना की घटना को लेकर सभी नीतीश सरकार को घेर रहे हैं.

रुपेश सिंह हत्‍याकांड (Rupesh Singh Murder Case) को लेकर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर हमला करते हुए कहा कि अब आपसे बिहार संभलने वाला नहीं है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 13, 2021, 4:46 PM IST

पटना. बिहार की राजधानी पटना में मंगलवार को बेखौफ बदमाशों ने एक बड़ी वारदात को अंजाम दिया है. इंडिगो (Indigo) के स्‍टेशन हेड रुपेश सिंह (Rupesh Singh) को बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां दागकर पटना के पुनाइचक में कुसुम विला अपार्टमेंट के पास  मौत के घाट उतार दिया. इसके बाद नीतीश सरकार न सिर्फ अपनी सहयोगी भाजपा बल्कि विपक्षी दलों के निशाने पर आ गई है. इस बीच आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने कहा कि बिहार में अपराध की खबरें सामने न आएं अगर इतनी ही एडिटिंग और मॉनिटरिंग मुख्यमंत्री क्राइम रोकने में लगाते तो ये नौबत न आती. सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) से अब बिहार संभलने वाला नहीं. अगर गृह विभाग नहीं संभल रहा तो किसी और को दे दें. उनको जबरदस्ती मुख्‍यमंत्री बनाया गया है नहीं तो मुख्‍यमंत्री भी नहीं बनते.

इसके साथ ही तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार गलत हाथों में चला गया है. हम सवाल कर रहे हैं कि इस महाजंगल राज का महाराजा कौन है? सरकार ही गुंडा चला रहे हैं तो क्या उम्मीद कर सकते हैं. सरकार में रहने वाले लोग संरक्षण देने का काम कर रहे हैं.

इससे पहले बीजेपी सांसद विवेक ठाकुर ने इस घटना के बाद कड़ी प्रतिक्रिया दी है. उन्‍होंने बिहार की एनडीए सरकार पर बड़ा सवाल उठाया है. विवेक ठाकुर ने कहा कि तीन से पांच दिन के अंदर पुलिस को एक निष्कर्ष पर आना ही होगा जिससे सीबीआई को भी इस केस को देने की स्थिति में यह मामला घीसा-पिटा न हो जाए. राज्यसभा सदस्‍य विवेक ठाकुर ने कहा कि जिस शख्स की कोई आपराधिक पृष्ठभूमि नहीं है, उसे इस तरह से सरेआम गोलियां मारी गई हैं. यह बिहार की नई सरकार पर बड़ा सवाल है. अगर तीन से पांच दिन में निष्कर्ष न निकले तो इस केस को बिहार सरकार को तुरंत सीबीआई को सौंपना चाहिए. इस बात की भी तहकीकात होनी चाहिए कि क्या लॉ एंड ऑर्डर की बात प्रायोजित है. रूपेश के हत्यारे कौन हैं और उनकी हत्या क्यों की गई यह जानना पटना पुलिस के लिए चुनौती है जिसे तीन से पांच दिन में पूरा करना होगा. विवेक ने कहा कि जांच समय से होनी चाहिए वरना इस केस का भी हाल सुशांत सिंह केस टाइप हो जाएगा और केस सीबीआई को लंबे अंतराल के बाद मिलेगी. यह भी पढ़ें- आपके लिए इसका मतलब: बर्ड फ्लू का नया वायरस इंसानों को नहीं मार रहा तो फिर मुर्गियों पर प्रतिबंध क्यों? जानें पूरा सच

वहीं, जन अधिकार पार्टी के संरक्षक और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने पटना में हुए हत्याकांड पर नीतीश कुमार की सरकार को घेरते हुए कहा कि सीएम नीतीश कुमार अब किस बात की समीक्षा कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि बिहार पुलिस को अब फ्री हैंड देने का समय आ गया है और बिहार में अपराधियों का एनकाउंटर करने की जरूरत है.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here