रो-रोकर वो दहलादेने वाला मंजर याद कर बेहोश हो जाती है रिंकू की मां, पुलिस पर भी खड़े हुए सवाल

0
29


दिल्ली. दिल्ली (Delhi) के मंगोलपुरी में हुई बीजेपी कार्यकर्ता रिंकू शर्मा की हत्या (Rinku Murder Case) के बाद गर्माई सियायत ने पुलिस की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. अभी तक पुलिस इसे आपसी विवाद के नजरिए से ही देख रही थी, लेकिन जिस तरह से मृतक की मां और भाई के बयान सामने आए हैं उसके बाद सियासी संग्राम छिड़ गया है. भाजपा नेताओं ने इस मामले में पुलिस और प्रशासन की कार्यशैली पर ही सवाल खड़े कर दिए. वहीं रिंकू की मां रोते हुए उस दिन का वो मंजर याद कर बेहोश हो जाती है, जिसमें उसके बेटे को उसके सामने ही घर से खींच ले जाया गया और सरेआम चाकुओं से गोदकर मौत के घाट उतार दिया गया. पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार तो कर लिया है, लेकिन घटना के धार्मिक और राजनीतिक तूल पकडऩे के साथ तनाव और टकराव के आसार ने प्रशासन की नींद उड़ा रखी है.

घटना के बाद दहशत में है परिवार

मृतक रिंकू शर्मा की मां की आंखों में वो दहला देने वाला मंजर अभी भी तैर रहा है, जिसमें उनके आंगन से उसके कलेजे के टुकड़े को खींच ले जाया गया. रिंकू की मां ने कहा, घायल रिंकू शर्मा ने मौत से पहले अपनी मां को जय श्री राम बोलकर गया है. मां ने रोते बिलखते हुए बताया कि अस्पताल में सभी डॉक्टर्स को भी मौत से पहले रिंकू जय श्री राम बोल कर इस दुनिया से चला गया. मां रो रो कर बता रही है कि किस तरह से उसके बेटे की हत्या कर दी गई. बात करते हुए मां बीच-बीच में बेहोश भी हो रही है. मां का कहना है कि वह लोग मेरे दूसरे बेटों को भी मार देंगे परिवार काफी डरा हुआ है और दहशत है.

भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने पुलिस की कार्यशैली पर उठाए सवाल

मृतक रिंकू के परिवार से मिलने सुबह से ही लगातार तमाम हिंदू संगठनों और बीजेपी के नेताओं का आना जाना जारी रहा. इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश से लोनी से बीजेपी विधायक नंद किशोर गुर्जर भी पीडि़त परिवार से मिलने पहुंचे और परिवार को सांत्वना दी. नंद किशोर गुर्जर ने इस घटना की कडी निंदा करते हुए पुलिस प्रशासन की कार्यशैली पर भी सवाल खड़े किए.

केजरीवाल पर भी निशाना, पीडि़त हिंदू से मिलने नहीं जाते केजरीवाल

नंद किशोर गुर्जर ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि केजरीवाल मुसलमानों के घर तो पहुंच जाते हैं, लेकिन हिंदुओं के परिवार की सुध लेने तक नहीं जाते. क्या हिंदुओं ने देश की रक्षा के लिए कुछ नहीं किया. नंद किशोर गुर्जर ने इस घटना को आतंकवाद से जोडऩे हुए कहा कि मुख्यमंत्री को इस घटना पर पीडि़त परिवार को एक करोड़ रुपए का मुआवजा देना चाहिए .

उन्होंने कहा कि आरोपियों का घर भी गिराना चाहिए और पुलिस को उन्हें शूट कर देना चाहिए था. यह आतंकवादी घटना है.

पांच लोग आए थे डिनर पर

पुलिस का कहना था कि मंगोलपुरी घटना में एक रेस्टोरेंट में पार्टी के दौरान इनका आपसी झगड़ा हुआ था. इस पर मंगोलपुरी के मसाला दरबार रेस्टोरेंट के मालिक ने बताया कि यहां पर वे 5 लोग डिनर करने के लिए आए थे. उन्होंने डिनर किया और सब कुछ नॉर्मल था. किसी भी तरह का उनका यहां पर ना विवाद हुआ ना झगड़ा हुआ और ना ही वह यहां पर कोई केक आदि लेकर आए थे. यहां पर उन्होंने सेलिब्रेशन भी नहीं किया सिंपल यहां पर डिनर किया और पैसे देकर चले गए थे.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here