लालकुआं से दिल्‍ली बॉर्डर जाने वाले वाहन चालकों को जाम से मिलेगी राहत, यह है नया प्‍लान

0
24


गाजियाबाद. लालकुआं से दिल्‍ली बार्डर (Delhi Border) की ओर जाने वाले हजारों वाहन चालकों को सुबह-शाम आफिस से आते जाने समय जाम में नहीं फंसना पड़ेंगे. जीटी रोड (GT Road) को जाम फ्री कराने की कवायद शुरू हो गयी है. इसके लिए भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्रधिकरण (National Highways Authority of India) ने लोक निर्माण विभाग (पीडब्‍ल्‍यूडी) से जीटी रोड को हैंडओवर ले लिया है और चौड़ीकरण के लिए सर्वे का काम भी शुरू कर दिया है.

लालकुआं से दिलशाद गार्डन, दिल्‍ली बॉर्डर तक जीटी रोड की कुल लंबाई 14.6 किमी है. इस रोड पर सुबह और शाम लंबा जाम लगता है. इस वजह से लोगों का काफी समय इसमें फंस कर बर्बाद होता है. जीटी रोड शहर के व्यस्ततम और प्रमुख मार्गों में से एक है और लालकुआं जिले का सबसे बड़ा यातायात जंक्शन है. ई-रिक्शा, ऑटो, टैक्सी व चार्टेड बसों के साथ दूसरे राज्यों को जाने वाली बसों में यात्री यहीं से सवार होते हैं.

इसको ध्‍यान में रखते हुए इसे जाम फ्री बनाया की तैयारी की जा रही है. एनएचएआई के अधिकारियों के अनुसार यह मार्ग चार लेन का ही रहेगा, लेकिन दोनों किनारों पर सड़क से ऊंचा फुटपाथ बनाया जाएगा. जगह जगह लोगों द्वारा बनाए गए अवैध कट बंद किए जाएंगे. यू-टर्न बनाने के साथ ही ट्रैफिक सिग्‍नल भी लगाए जाएंगे.

एनएचएआई के प्रोजेक्‍ट डायरेक्‍टर अरविंद कुमार के अनुसार सर्वे का काम शुरू कर दिया है. इस प्रोजेक्ट की डिटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार करने के बाद काम शुरू कराया जाएगा. इससे पहले केंद्रीय राज्यमंत्री वीके सिंह की अध्यक्षता में पीडब्ल्यूडी, नगर निगम, जिला प्रशासन और ट्रैफिक पुलिस के साथ बैठक की जाएगी. इस रोड से अतिक्रमण हटाए बिना यहां काम शुरू नहीं हो पाएगा. अतिक्रमण हटाने के लिए स्थानीय प्रशासन का सहयोग चाहिए. बैठक में सभी विभागों की जिम्मेदारी तय होगी. सके बाद जीटी रोड को विकसित करने का काम शुरू होगा.

Tags: National Highways Authority of India



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here