लॉकडाउन ने चौपट किया सबकुछ, अब कुंभ पर टिकी है पर्यटन व्यवसाय की उम्मीद

0
16


Haridwar Mahakumbh 2021: पर्यटन कारोबारियों को अगले साल जनवरी में लगने वाले कुंभ मेले में पर्यटकों के आने की उम्मीद.

Haridwar Mahakumbh 2021: कोरोना वायरस महामारी (COVID-19) की वजह से लागू लॉकडाउन ने उत्तराखंड के पर्यटन कारोबार (UK Tourism) को बुरी तरह प्रभावित किया. अब सरकार और व्यवसायियों को हरिद्वार में लगने वाले कुंभ का इंतजार है, ताकि कारोबार पटरी पर लौट सके.

देहरादून. उत्तराखंड में इस बार पर्यटन व्यवसाय कोरोना (COVID-19) की वजह से पूरी तरह से चरमरा गया है. होटल व्यवसायी जहां लॉकडाउन (Lockdown) के चलते पूरी तरह से टूट चुके हैं, वही राफ्टिंग समेत एडवेंचरस एक्टिविटीज करवाने वाले व्यवसायियों (Tourism Industry) का भी धंधा चौपट हो चुका है. लेकिन अगले साल उम्मीद की जा रही है कि पर्यटन कारोबारियों को राहत मिले, क्योंकि हरिद्वार में होने जा रहे कुंभ (Haridwar Mahakumbh 2021) के चलते पर्यटकों की प्रदेश में आने की उम्मीद बढ़ी है. इसी को देखते हुए पर्यटन विभाग जहां अपनी तैयारियों को मुस्तैद कर रहा है, वहीं होटल कारोबारियों के चेहरे भी खिले हुए हैं.

कोरोना वायरस महामारी से आई आर्थिक मंदी के बाद होटल व्यवसाय भी पूरी तरह से चौपट ही नजर आ रहा है. हालांकि होटल व्यवसायियों ने 31 दिसंबर और नए साल पर उम्मीदें लगाई हुई हैं. इसी कारण कुछ होटल्स लोगों को लुभाने के लिए 20 से 25% तक की छूट भी दे रहे हैं. हालांकि इस दरमियान सोशल डिस्टेंसिंग से लेकर कोरोना वायरस गाइडलाइंस को भी फॉलो करना जरूरी होगा. कुछ होटल में 31 दिसंबर को होने वाले कार्यक्रम पर भी पाबंदी भी लगाई गई है. कोरोना के चलते लोग जहां सेलिब्रेशन के लिए कम आ सकते हैं, वहीं इसके उलट उत्तराखंड में बर्फबारी की संभावनाओं के मद्देनजर नए साल में पर्यटकों के आने की भी उम्मीद है.

होटल कारोबारियों को उम्मीद है कि 2021 की जनवरी में ही कुंभ का आगाज भी हो जाएगा और उस वक्त पर्यटक उत्तराखंड का रुख कर सकते हैं. इसको देखते हुए पर्यटन विभाग अपनी तैयारियां कर रहा है. जीएमवीएन के गेस्ट हाउस को जहां तैयार किया जा रहा है, वहीं लोग उत्तराखंड आकर अच्छी यादें लेकर जाएं इसके लिए भी इंतजाम किए जा रहे हैं.

कोरोना के कारण वर्क फ्रॉम होम कल्चर को देखते हुए भी उत्तराखंड में कुछ होटल्स में व्यवस्था की गई थी. विभाग ने इसको लेकर भी तैयारियां की थी कि वर्क फ्रॉम होम में जो लोग भी उत्तराखंड आएं वे यहां रहते हुए काम करें. इसके लिए भी कई व्यवस्थाएं की गईं. लोगों को लुभाने के लिए फ्री नेट से लेकर होटल फेयर में डिस्काउंट दिया गया था, मगर उसके बावजूद लोगों का रिस्पांस कम ही रहा. लिहाजा सभी को 2021 का ही इंतजार है, जब महाकुंभ को लेकर दूसरे राज्यों या देशों से पर्यटक उत्तराखंड आएंगे.


<!–

–>

<!–

–>


! function(f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function() {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
};
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
}(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here