विजिलेंस की टीम ने हरियाणा पुलिस के 2 कर्मियों को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों किया गिरफ्तार-Vigilance team arrested 2 police personnel red handed while taking bribe in haryana hrrm– News18 Hindi

0
9


चंडीगढ़. हरियाणा राज्य चौकसी ब्यूरो (Haryana State Vigilance Bureau) ने आज दो अलग-अलग घटनाओं में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अर्न्तगत कार्रवाई करते हुए दो पुलिस कर्मियों को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफतार किया (Two police personnel arrested taking bribe) गया है. पहला मामला जिला सिरसा से सम्बन्धित है, जहां डबवाली सीआईए इंचार्ज उप निरीक्षक अजय कुमार को शिकायतकर्ता सुखबीर सिंह से 2 लाख रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफतार किया गया.

सुखबीर सिंह ने एक शिकायत विजिलेंस ब्यूरो को दी थी कि उसके पिता, जिनकी उम्र करीब 75 वर्ष है, एनडीपीएस एक्ट के तहत 10 वर्ष की सजा काट रहे थे और पैरोल पर घर आए थे. बीमारी व कोविड-19 के चलते वे पैरोल की अवधि के दौरान वापिस जेल नहीं जा पाए, जिस कारण उनके विरुद्ध पैरोल एक्ट के तहत अभियोग अंकित हो गया था. इस अभियोग में पिताजी को गिरफ्तार न करने की एवज में सीआईए इंचार्ज अजय कुमार ने उनसे 2 लाख रुपये की मांग की व पनाह देने के जुर्म में हमें भी गिरफ्तार करने की धमकी देने लगा.

शिकायतकर्ता ने बताया कि सीआईए. इंचार्ज अजय कुमार बार-बार फोन करके उनसे 2 लाख रुपये की मांग कर रहा है, जिसकी उसने रिकार्डिंग कर ली है. शिकायतकर्ता ने विजिलेंस ब्यूरो से अनुरोध किया कि वह रिश्वत की राशि नहीं देना चाहता इसलिए सीआईए इंचार्ज अजय पर कार्रवाई की जाए. शिकायतकर्ता की सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए अभियोग संख्या 6 धाराधीन 7 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम थाना राज्य चौकसी ब्यूरो, हिसार में दर्ज किया गया.  उप पुलिस अधीक्षक कैलाश चन्द के नेतृत्व में एक टीम का गठन करके ड्यूटी मैजिस्ट्रेट  गुरूदेव सिंह, तहसीलदार सिरसा की मौजूदगी में उक्त सीआईए इंचार्ज उप निरीक्षक अजय कुमार को 2 लाख रुपये की रिश्वत सहित रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया. आरोपी से गहनता से पूछताछ की जा रही है.

दूसरे मामले में थाना भट्टू कलां जिला फतेहाबाद के उप निरीक्षक जीत राम को शिकायतकर्ता सहदेव, निवासी गांव बान मन्डोरी से 4000 रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया. शिकायतकर्ता ने विजिलेंस ब्यूरो को सूचना दी कि 7 जून, 2021 को उसकी गाड़ी से एक एक्सीडेंट हो गया था, जिसमें उसके विरूद्ध मुकदमा दर्ज करने की धमकी देकर उक्त उप निरीक्षक 10 हजार रुपये की मांग कर रहा है. बाद में 7 हजार रुपये में सौदा तय हुआ, जिनमें से 4 हजार रुपये आज दिए जाने है. इस सूचना के आधार पर थाना राज्य चौकसी ब्यूरो, हिसार ने भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया.

विजिलेंस ब्यूरो की टीम द्वारा उप पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार के नेतृत्व में व ड्यूटी मैजिस्ट्रट  राजेश गर्ग, नायब तहसीलदार, फतेहाबाद की मौजुदगी में उप निरीक्षक जीत राम को 4 हजार रुपये की रिश्वत सहित रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया. आरोपी से गहनता से पूछताछ की जा रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here