सचिन पायलट ने जयपुर में लड़ाये सियासी पेंच, बेबाकी दिये इन बड़े सवालों के जवाब

0
23


पायलट ने कहा कि राजस्थान के सियासी मसलों पर जो कमेटी बनाई गई है उसमें अब दो लोग हैं. ऐसे में माना जाना चाहिए कि जल्द ही उनके निर्णयों को लागू किया जाएगा.

मकर संक्रांति पर पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने भी जयपुर में पतंगबाजी का आनंद लिया. इस दौरान मिडिया से बातचीत करते हुये पायलट ने पार्टी की कमान फिर से राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को सौंपे जाने की वकालत की.

जयपुर. सियासत में पेंच लड़ाने वाले राजनेता भी मकर सक्रांति (Makar Sankranti) के मौके पर पतंग के पेंच लड़ाते नजर आये. पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot ) ने गुरुवार को जयपुर में पतंगबाजी का आनंद लिया. पायलट सुबह कांग्रेस नेता राजेश चौधरी के निवास पर पहुंचे और वहां पतंग उड़ाई. इस दौरान उन्होंने विभिन्न मुद्दों को लेकर मीडिया से बातचीत भी की. इस दौरान पायलट ने फिर से पार्टी की कमान राहुल गांधी को सौंपे जाने की वकालत की.

पायलट ने कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद बनाई कमेटी के सदस्यों पर सवाल उठाने के मामले में किसानों की प्रतिक्रिया का स्वागत किया है. पायलट ने कहा कि केन्द्र सरकार को अपनी जिद छोड़ कर किसानों की मांग माननी चाहिए. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि कोर्ट के निर्णय पर वे कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं लेकिन कमेटी पर जो सवाल उठाए गए हैं वे काफी महत्वपूर्ण हैं.

वेणुगोपाल राज्यसभा में कई मुद्दे उठाना चाहते हैं
राष्ट्रीय संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल से जयपुर में मुलाकात के मामले पर पायलट ने कहा कि वे हमारे राज्यसभा के सांसद हैं. उनसे मुलाकात के दौरान कई मुद्दों पर बातचीत हुई. केन्द्र से राज्यों को उनके हिस्से का जो पैसा नहीं मिल पा रहा है वह मुद्दा केसी वेणुगोपाल राज्यसभा में उठाना चाहते हैं. वे कई दूसरे मुद्दे भी राज्यसभा में उठाएंगे. पायलट ने कहा कि राजस्थान के सियासी मसलों पर जो कमेटी बनाई गई है उसमें अब दो लोग हैं. ऐसे में माना जाना चाहिए कि जल्द ही उनके निर्णयों को लागू किया जाएगा.व्हाट्सएप को पारदर्शिता दिखानी चाहिए

व्हाट्सएप को लेकर चल रहे विवाद पर पायलट ने कहा कि यह बहुत ही जेन्युइन विवाद है. दुनियाभर में प्राइवेसी को लेकर सवाल उठ रहे हैं. प्राइवेसी बहुत महत्वपूर्ण विषय है पूरी दुनिया के लिए. व्हाट्सएप जैसी बड़ी कंपनी पर करोड़ों लोग यकीन करते हैं उसे पारदर्शिता दिखानी चाहिए. अन्यथा सवाल खड़े होंगे. खुद को विधानसभा में सदाचार कमेटी में शामिल किए जाने के सवाल पर पायलट ने कहा कि यह सतत प्रक्रिया है.


<!–

–>

<!–

–>


! function(f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function() {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
};
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
}(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here