सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ममता बनर्जी को दी बधाई, बोले- दीदी ओ दीदी का मिल गया जवाब

0
12


सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ममता बनर्जी को ट्वीट करते हुए ये तस्वीर साझा की है.

Lucknow News: सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट किया है कि पश्चिम बंगाल में ये भाजपाइयों के एक महिला पर किए गए अपमानजनक कटाक्ष ‘दीदी ओ दीदी’ का जनता द्वारा दिया गया मुंहतोड़ जवाब है.

लखनऊ. पश्चिम बंगाल विधानसभा (Benga Vidhansabha Election) चुनावों में तृणमूल कांग्रेस  (TMC) रुझानों में बड़ी जीत हासिल करती दिख रही है. इन रुझानों के बाद से ही ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की जीत को लेकर बधाईयों का सिलसिला शुरू हो गया है. इसी बीच उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवदी पार्टी अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)  ने ममता बनर्जी और टीएमसी कार्यकर्ताओं का बधाई दी है. अखिलेश यादव ने अपने अंदाज में कहा है कि दीदी जियो दीदी. उन्होंने कहा कि भाजपाइयों के कटाक्ष ‘दीदी ओ दीदी’ को जनता द्वारा दिया गया मुंहतोड़ जवाब है. अखिलेश यादव ने ट्वीट किया है, “प. बंगाल में भाजपा की नफ़रत की राजनीति को हराने वाली जागरुक जनता, जुझारू सुश्री ममता बनर्जी जी व टीएमसी के समर्पित नेताओं व कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई! ये भाजपाइयों के एक महिला पर किए गए अपमानजनक कटाक्ष ‘दीदी ओ दीदी’ का जनता द्वारा दिया गया मुंहतोड़ जवाब है. # दीदी_जिओ_दीदी सपा प्रमुख अखिलेश यादव का ट्वीट

akh

सपा प्रमुख अखिलेश यादव का ट्वीट

बता दें अब तक आए रुझानों में पश्चिम बंगाल में बदलाव नहीं दिख रहा है, यानी यहां सत्ताधारी पार्टी की ही सरकार बरकरार रहती दिख रही है. बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की दोबारा सरकार बनती दिख रही है. बंगाल में टीएमसी ने रुझानों में 200 का आंकड़ा पार कर लिया है. ताजा आंकड़े के मुताबिक टीएमसी 206 सीटों पर आगे चल रही है. वहीं, बीजेपी 83 सीटों पर पहुंच गयी है. सबसे बुरा हाल लेफ्ट और कांग्रेस गठबंधन का है. रुझानों के मुताबिक गठबंधन सिर्फ एक सीट पर आगे चल रहा है, जबकि दो सीटों पर अन्य उम्मीदवार आगे हैं.

Youtube Video

रुझानों में भले ही टीएमसी स्पष्ट बहुमत के आंकड़े को पार करती दिख रही हो, लेकिन ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की चिंता बनी हुई है. ममता बनर्जी नंदीग्राम में बीजेपी के शुवेंदु अधिकारी (Suvendhu Adikari) से 7 हजार से ज्यादा वोटों से पिछड़ती दिख रही हैं. बंगाल का ये विधानसभा चुनाव लेफ्ट और कांग्रेस पार्टी के लिए आखिरी चुनाव साबित हो सकता है.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here