सांसद शफीकुर्रमान बर्क के पौत्र की मांग, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में शुरू हो ‘दीनी पढ़ाई’

0
10


हाइलाइट्स

कहा, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में इस्लामिक पढ़ाई होना कोई गलत नहीं.
बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में इस्लामिक स्टडी ’दीनी पढ़ाई’ शुरू करने की मांग.

संभल. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में सनातन धर्म की पढ़ाई कराए जाने के फैसले को लेकर अब सियासत शुरू हो गई है. जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर द्वारा यूनिवर्सिटी की मांग के बाद संभल से सपा सांसद शफीक उर्रहमान बर्क के पौत्र कुंदरकी से सपा विधायक जियाउर्रहमान बर्क ने भी एक मांग रखी है. बर्क ने बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में इस्लामिक स्टडी ’दीनी पढ़ाई’ शुरू करने की मांग की है.

मुरादाबाद की कुंदरकी सीट से सपा विधायक जियाउर्रहमान बर्क ने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से केवल अलीगढ़ नहीं बल्कि पूरे देश का नाम रोशन होता है. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में इस्लामिक पढ़ाई होना कोई गलत नहीं है लेकिन जिस तरह वहां सनातन धर्म की पढ़ाई लागू की गई है, ठीक उसी तरह बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में इस्लामिक पढ़ाई का कोर्स होना चाहिए. इसमें भेदभाव क्यों किया जा रहा है? दवाब डालकर ये फैसला कराया गया है. इसलिए हमारी मांग है कि जब एएमयू में सनातन धर्म की पढ़ाई हो सकती है तो बीएचयू में भी इस्लामिक पढ़ाई होनी चहिए.

यूनिवर्सिटी बनाने में लगी मेहनत
उनका कहना है कि ऐसा करना चाहिए ताकि वहां के लोगों को भी इस्लाम के बारे में जानकारी मिल सके. वहीं, सपा विधायक ने महामंडलेश्वर द्वारा एएमयू का नाम बदलने वाली मांग पर कहा कि ये लोग इस तरह की मांग के अलावा और कर भी क्या सकते हैं? सपा विधायक ने कहा कि ये यूनिवर्सिटी किसी के रहमो करम पर नहीं बनी है बल्कि एएमयू के संस्थापक ने दिन-रात एक करके इस यूनिवर्सिटी को खड़ा किया था. इसलिए जब उन्होंने मेहनत से इसको बनाया है तो आपको इसका नाम बदलने का क्या अधिकार है? अगर हिम्मत है तो कौम के लिए दूसरी यूनिवर्सिटी बनाकर दो.

देश की आजादी में सभी ने दी कुर्बानी
उन्होंने आगे कहा, शर्म आती है ऐसे लोगों पर जो एक कॉलेज बनाने की हैसियत नही रखते, वह एएमयू पर उंगली उठाते हैं. सपा विधायक ने कहा कि इस देश की आजादी के लिए मुसलमानों ने भी कुर्बानियां दी हैं और अगर उस वक्त मुसलमान साथ नहीं देते तो ये हिन्दुस्तान कभी आजाद नहीं हो सकता था.

Tags: Aligarh Muslim University, Banaras Hindu University, Sambhal News



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here