सायना नेहवाल ने थॉमस और उबर कप के आयोजन पर उठाये सवाल

0
2


सायना नेहवाल ने खड़े किये थॉमस-उबर कप के आयोजन पर सवाल

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बीच थॉमस और उबर कप (Thomas & Uber Cup) का आयोजन के खिलाफ हैं सायना, उठाए सुरक्षा पर सवाल

नई दिल्ली. भारतीय बैडमिंटन स्टार सायना नेहवाल (Saina Nehwal) ने अगले महीने होने वाले थॉमस और उबेर कप के समय को लेकर रविवार को चिंता व्यक्त की और पूछा कि क्या कोविड-19 महामारी के बढ़ते मामलों के बीच इसका आयोजन सुरक्षित होगा? 7 देशों के दुनिया भर में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण टूर्नामेंट से हटने के बाद सायना ने चिंता व्यक्त की है. मार्च में इस महामारी के कारण बंद बैडमिंटन गतिविधियों के बाद थॉमस और उबेर कप से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बैडमिंटन की वापसी होगी. इनका आयोजन डेनमार्क में तीन से 11 अक्टूबर तक किया जाएगा.

सायना ने खड़े किये सवाल
सायना (Saina Nehwal) ने ट्वीट किया, ‘सात देशों ने महामारी के कारण टूर्नामेंट से हटने का फैसला किया है… क्या इस दौरान इस टूर्नामेंट का आयोजन करना सुरक्षित होगा? ‘ इस टूर्नामेंट से कोरिया, थाईलैंड, इंडोनेशिया, आस्ट्रेलिया, ताईवान, सिंगापुर और हांगकांग हट चुके हैं. भारत की तैयारियों पर भी इस महामारी का असर पड़ा है. हैदराबाद में प्रस्तावित अभ्यास शिविर रद्द करना पड़ा क्योंकि खिलाड़ियों ने भारतीय खेल प्राधिकरण द्वारा निर्धारित क्वारंटीन की शर्तों को स्वीकार करने से इनकार कर दिया.

समुद्र के किनारे बेबी बंप फ्लॉन्ट करती नजर आईं अनुष्का शर्मा, बताया अपना प्रेग्नेंसी एक्सपीरियंसIPL 2020: दिनेश कार्तिक की कप्तानी लगी दांव पर, क्या इस बार खिताब जीतेगी KKR?

ये भी पढ़े  बास्केटबॉल का टी20 अंदाज में खेले जाने वाला फॉर्मेट है 3x3, जानिए इस दिलचस्प खेल के सभी नियम

इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती की अगुआई मौजूदा विश्व चैम्पियन पीवी सिंधु करेंगी. उन्होंने पहले व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए इससे हटने का फैसला किया था लेकिन महासंघ के मनाने पर इसे बदल दिया. हालांकि विश्व कांस्य पदक विजेता बी साई प्रणीत ने घुटने की चोट के कारण इस टूर्नामेंट में नहीं खेलने का निर्णय लिया. बैडमिंटन विश्व महासंघ को महामारी के कारण अपने अंतरराष्ट्रीय कैलेंडर में बार बार बदलाव करना पड़ रहा है. उसने कहा है कि टूर्नामेंट के प्रतिभागियों के पास अगर नेगेटिव कोविड-19 रिपोर्ट है तो उन्हें डेनमार्क में पहुंचने के बाद क्वारंटीन में नहीं रहना होगा.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here