सावन में हरियाणा का मशहूर घेवर नहीं खाया तो कुछ नहीं खाया, विदेश तक छाया इसका जलवा-ghevar Special Sweets of Haryana in now famous in overseas also hrrm– News18 Hindi

0
20


सावन के दस दिन पहले ही यहां शुद्ध देशी घी से बनने वाले घेवर का काम शुरु हो जाता है. लाला मातूराम की दुकान पर बनने वाला शुद्ध देशी घी का घेवर मालदार होता है. गोहाना में मातूराम हलवाई को कौन नहीं जानता. जिन्होंने पहली बार साल 1958 में खानपान के क्षेत्र में ऐसी स्वादिष्ट जलेबी तैयार की, जिसको जिसने एक बार खाया वो उस स्वाद को बार बार चखने के लिए आने लगा.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here