सिर्फ गालीबाज ही नहीं है श्रीकांत त्यागी, इस चीज का भी रहा है बहुत बड़ा शौकीन

0
42


हाइलाइट्स

पुलिस ने आरोपी की एक और कार बरामद की है. इस गाड़ी पर यूपी विधानसभा का स्टीकर लगा हुआ है.
कार में लगा स्टिकर विधायक स्वामी प्रसाद मौर्य ने दिया है और विधायक पास दिए थे.
2020 में सुरक्षा मिली थी पुलिस पर भी हाईलेवल की पूछताछ करेगी.

नोएडा. नोएडा के ओमैक्स परिसर में महिला के साथ गाली-गलौज के आरोपी और अब पुलिस गिरफ्त में आए आए गालीबाज श्रीकांत त्यागी महंगी कारों का भी शौकीन है. पुलिस को त्यागी के पास जो गाडियां मिली हैं, उनमें सभी में स्पेसिफिक और वीवीआईपी नंबर 0001 हैं. इस नंबर को पाने के लिए अच्छी खासी रकम परिवहन विभाग को चुकानी पड़ती है. पुलिस ने बताया कि हर नंबर प्लेट के लिए श्रीकांत त्यागी ने 1 लाख 25 हजार खर्च किये हैं. आरोपी त्यागी के पास इस नंबर प्लेट वाली तीन से चार कारें बताई जा रही हैं.

पुलिस को एक कार में एक स्टिकर लगा हुआ है जो विधायकों को मिलता है. इस पर श्रीकांत त्यागी ने बताया कि ये स्वामी प्रसाद मौर्य से मिला है. जो इस समय सपा के एमएलसी हैं. त्यागी के ड्राइवर ने कार की नंबर प्लेट पर यूपी सरकार लिखवाया हुआ था, आरोपी त्यागी इस इमेज को इस्तेमाल कर रहा था, इसके लिए जरिये भय का वातावरण बना रहा था. नोएडा पुलिस श्रीकांत त्यागी पर गैंगस्टर एक्ट भी लगाएगी और बेनामी संपत्ति की जांच करेगी.

यह भी पढ़ें… स्वामी प्रसाद मौर्य ने दिया था यूपी सरकार का स्टिकर; ‘गालीबाज’ ने पूछताछ में किया यह बड़ा दावा

2020 में सुरक्षा में मिली हुई थी, इसकी भी जांच होगी: पुलिस
इधर, पुलिस ने आरोपी की एक और कार बरामद की है. इस गाड़ी पर यूपी विधानसभा का स्टीकर लगा हुआ है. इतना ही नहीं, कार पर बीजेपी का झंडा भी लगा है. साथ ही कार में लगा स्टिकर विधायक स्वामी प्रसाद मौर्य ने दिया है और विधायक पास दिए थे. 2020 में सुरक्षा मिली थी उस पर हाईलेवल पूछताछ की जाएगी. नोएडा पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने बताया कि इसने अपनी गलती मानी है आक्रोश में आकर त्यागी ने महिलाओं महिलाओं के खिलाफ इस तरह से अभद्रता की है. इससे पहले पुलिस श्रीकांत त्यागी को पीसी में मिडिया के सामने पेश किया.

पुलिस बनाईं आरोपी को पकड़ने के लिए बनाईं 12 टीमें
नोएडा पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने बताया कि हमें एक सोशल मीडिया वीडियो का पता लगा. वह वीडियो जो ओमेक्स सोसायटी का था, जिस पर संज्ञान लेकर एडिशनल डीसीपी अंकिता शर्मा उस परिवार से मिली और वीडियो की डिटेल लेकर कार्रवाई के निर्देश दिए. 5 अगस्त की ये घटना थी, पुलिस खुद वहां पहुंचकर पीड़ित से संपर्क करके बातचीत के बाद वीडियो में दिखाई देने वाले शख्स की तलाश शुरू की.

पुलिस से बचने के लिए भागता रहा आरोपी
मुख्य आरोपी पुलिस से बचने के लिए भाग रहे थे. पहले हमने उसकी गिरफ्तारी के लिए 8 टीम बनाईं. उसकी नोडल अधिकारी अफसर थी फिर इन टीम को बढ़ाकर 12 टीम बनाईं. लगातार मुख्य आरोपी पुलिस से खुद को बचाने की कोशिश कर रहा था, वो छिपने के लिए यूपी से बाहर भी गया था, लेकिन हमारी टीम लगातार ह्यूमन इंटेलिजेंस और दुसरे इनपुट के आधार पर पीछा करती रही. आरोपी चालाकी से खुद को टेक्निकल सर्विलांस से बचाने के लिए रेडियो सालेंस और इलेक्ट्रॉनिक उपयोग कर रहा था. आखिर में पुलिस ने आज मेरठ के पास से आरोपी त्यागी को गिरफ्तार कर लिया.

Tags: Noida news, Noida Police, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here