स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में डॉक्टर ने लैब असिस्टेंट पीटा, जमकर हंगामा; जानें पूरा मामला

0
41


हाइलाइट्स

डॉक्टर अस्पताल परिसर मे स्थित लैब में सैंपल की जांच कराने के लिए पहुंचा था.
मारपीट से नाराज जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर बैठ गए.

इलाहाबाद. संगम नगरी प्रयागराज के स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में तीमारदार और डाक्टरों के बीच तो आए दिन मारपीट की घटनाएं होती हैं लेकिन इस बार अस्पताल में जूनियर डाक्टर और लैब टेक्निशियन आपस में भिड़ गए. मामला यहां तक पहुंच गया कि दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हुई, जिसमें 112 के सिपाही सहित कई लोग जख्मी हो गए. मारपीट इस हद तक हुई कि ट्रोमासेंटर के शीशे भी टूट गए. इसके बाद जूनियर डाक्टर धरने पर बैठ गए कुछ देर के लिए अस्पताल परिसर में अफरा तफरी मच गई.

यह मामला तब शुरू हुआ जब ट्रॉमा सेंटर से एक जूनियर डॉक्टर अस्पताल परिसर मे स्थित लैब में सैंपल की जांच कराने के लिए पहुंचा था. पहले जांच कराने और रिपोर्ट लेने के चक्कर में जूनियर डॉक्टर और लैब टेक्निशियन के बीच विवाद हो गया. भीड़ ज्यादा होने पर लैब टेक्नीशियन ने जूनियर डॉक्टर से कहा कि भीड़ ज्यादा है थोड़ी देर रूक जाइए. इस पर डॉक्टर नहीं माना और बहस शुरू हो गई.

जूनियर डॉक्टर ने गुस्से में लैब असिस्टेंट को पीटा
जूनियर डॉक्टर ने गुस्से में आकर लैब असिस्टेंट को पीटना शुरू कर दिया. यह बात जब अन्य लैब टेक्निशियंस को पता चली तो वे सब एकत्रित हुए और जूनियर डॉक्टर को ढूंढते हुए ट्रॉमा सेंटर पहुंच गए. इसके बाद कई लैब टेक्निशियंस ने मिलकर जूनियर डॉक्टर को पीट दिया. ऐसे में दोनों पक्षों की तरफ से मारपीट शुरू हो गई. मारपीट के दौरान कई लोगों को हल्की चोटें भी आईं. इसके बाद इस मारपीट से नाराज जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर बैठ गए.

सीसीटीवी फुटेज खंगाला जा रहा
सूचना मिलते ही पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची. वहीं, बिगड़ती स्थिति को देखते हुए मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य एसपीसीबी पहुंचे और डॉक्टर्स को समझाने की कोशिश की. लेकिन पुलिस और प्रधानाचार्य की बात जूनियर डॉक्टर मानने को तैयार नहीं थे. जानकारी के अनुसार, जूनियर डॉक्टर्स ने प्रधानाचार्य और पुलिस से भी बदतमीजी की. स्वरूपरानी मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य एसपी सिंह का कहना है कि अस्पताल परिसर में लगे सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से उपद्रवियों की पहचान की जा रही है.

उपद्रवियों के खिलाफ होगा एक्शन
उनका कहना था कि आपसी विवाद में अस्पताल को नुकसान पहुंचाया गया है. शीशा तोड़ा गया है, नुकसान को उपद्रवियों से वसूला जाएगा. जूनियर डॉक्टर हो या फिर लैब टेक्निशियन हो, जो लोग भी घटना में शामिल हैं, उन पर कार्रवाई की जाएगी. फिलहाल अस्पताल में स्थिति सामान्य है और मरीजों का इलाज चल रहा है.

Tags: Allahabad news, Junior Doctor Strike, Lab technicians



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here