स्वामी प्रसाद मौर्य ने दिया था यूपी सरकार का स्टिकर; ‘गालीबाज’ ने पूछताछ में यह बड़ा दावा

0
50


नोएडा: नोएडा पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने कहा कि इसकी घटना की पृष्ठभूमि सोसायटी के अंदर कौन इस्तेमाल करेगा, ये 3 साल पहले विवाद से शुरू हुआ और इसकी परिणीति 5 अगस्त के वीडियो में नजर आई. हम महिलाओं और बच्चों की सेफ्टी में कोई कोताही नहीं बरतेंगे. श्रीकांत त्यागी लगातार भागता रहा. पहले दिल्ली से एयरपोर्ट जाने की कोशिश की, लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद प्लान बदल दिया. मेरठ में रात गुजारी, फिर अपने डिवाइस बदल कर शनिवार को हरिद्वार होते हुए ऋषिकेश गया फिर संडे को वापस यूपी में आकर शाम को डिवाइस बदले गए.

उसके बाद मेरठ मुजफ्फरनगर और उसके आसपास कही बागपत में इसकी मूवमेंट रही. इस बीच इसने खुद को छिपाया और लोकेक्शन बदली. वाहन बदलता रहा जिससे ये 3-4 दिन तक छिपाए रहा. हर नई लोकेशन को हम ट्रैक कर रहे थे. नकुल त्यागी और संजय और ड्राइवर राहुल ने सपोर्ट किया.

एक गाड़ी में विधायक का स्टिकर है, कहा- स्वामी प्रसाद मौर्य से मिला: पुलिस
इसके पास जो गाडियां मिली हैं, उनमें सभी मे स्पेसिफिक नम्बर हैं. 0001, हर नम्बर प्लेट के लिए 1 लाख 25 हजार दिए. एक व्हीकल पर एक विधायक का स्टिकर लगा हुआ है जो विधायकों को मिलता है स्वामी प्रसाद मौर्य से मिला है. इसके ड्राइवर द्वरा नम्बर प्लेट पर यूपी सरकार लिखा हुआ था, उस इमेज को इस्तेमाल कर रहा था, जिससे भय का वातावरण बना रहा था. गैंगस्टर एक्ट भी करेंगे और बेनामी संपत्ति पर जांच करेंगे.

त्यागी ने अपनी गलती स्वीकार कर ली है: पुलिस
स्वामी प्रसाद मौर्य ने विधायक पास दिए. 2020 में सुरक्षा मिली थी उस पर हाईलेवल पूछताछ की जाएगी. नोएडा पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने बताया कि इसने अपनी गलती मानी है आक्रोश में आकर त्यागी ने महिलाओं महिलाओं के खिलाफ इस तरह से अभद्रता की है. इससे पहले पुलिस श्रीकांत त्यागी को पीसी में मिडिया के सामने पेश किया.

Tags: Noida news, Noida Police, UP news, UP police



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here