हरियाणा के कृषि मंत्री ने BJP-JJP नेताओं के विरोध को बताया कांग्रेस व कम्युनिस्टों की प्रथा

0
84


कृषि मंत्री जेपी दलाल ने किसान आंदोलन पर कहा कि केन्द्र सरकार कृषि कानूनों में संसोधन कर समाधान को तैयार है.

भाजपा व जेजेपी नेताओं के विरोध पर हरियाणा (Haryana) के कृषि मंत्री जेपी दलाल (JP Dalal) कांग्रेस व कम्युनिस्ट जो प्रथा डाल रहे वो ग़लत है.

भिवानी. हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल (JP Dalal) ने भाजपा व जेजेपी नेताओं के बहिष्कार व विरोध को कांग्रेस व कम्युनिस्टों की प्रथा बताया है और कहा है कि ये ग़लत है. जिसका आने वाले समय में सभी पार्टियों के नेताओं को ख़ामियाज़ा भुगतना होगा. साथ ही कहा कि सरकार (Government) का काम फ़सलों का व्यापार करना नहीं, बल्कि किसानों को उचित भाव दिलाना है जो आज मिल भी रहा है.

बता दें कि कृषि मंत्री जेपी दलाल अपने आवास पर जनता दरबार लगा कर लोगों की समस्याएं सुन रहे थे. इस दौरान आम लोगों ने बिजली, पानी व गलियों तीस समस्याएं रखी तो वहीं आढती गेहूं की फसल की ख़रीद के दौरान आने वाली समस्याओं को लेकर मिले. मंत्री ने अधिकतर लोगों की समस्याओं का मौक़े पर निपटारा किया.

इस दौरान मीडिया से रूबरू हुये कृषि मंत्री जेपी दलाल ने सबसे पहले प्रदेश में किसानों द्वारा भाजपा व जेजेपी नेताओं के कार्यक्रमों के विरोध और गाँवों में घुसने पर बहिष्कार को कांग्रेस व कम्युनिस्टों द्वारा शुरू की गई प्रथा बताया. साथ ही कहा कि लोकतंत्र में किसा का विरोध सही नहीं, क्योंकि सबको अपनी बात रखने का अधिकार है. दलाल ने कहा कि ऐसे विरोध होगा तो कैसे लोगों की समस्याएं गुर होंगी और कैसे फ़सलों की ख़रीद करवाएँगे.

वहीं फ़सलों की सरकारी ख़रीद पर जेपी दलाल ने कगार कि आज सरसों एमएसपी से उपर बिक रही है. जो किसानों और हमारे लिए सुखद बात है. दलाल ने कहा कि हमारा काम फ़सलों का व्यापार करना नहीं बल्कि किसान को उसकी फसल का उचित व लाभकारी मूल्य देना है जो आज मिल रहा है. उन्होंने एक किसान पर गेहूँ की फसल बेचने के लिए 30 क्विंटल की शरत लागू पर कहा कि ये छोटे किसानों को राहत देने के लिए है, लेकिन ख़रीद हर किसान के एक एक दाने की होगी. उन्होंने जल्द ही शॉर्ट सर्किट साथ आग से जलने वाली फ़सलों के लिए और किसान को राहत देने के लिए नीति बनाने की बात कही. साथ ही बंगाल व असम में भाजपा की जीत की उम्मीद जताई.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here