हरियाणा में 7 जनवरी को कोरोना वैक्सीन का ‘ड्राई रन’, इस साल 67 लाख को लगेगा टीका

0
15


देश में कोरोना वायरस के संकट को रोकने के लिए वैक्सीन को मंजूरी दी जा चुकी है.

सभी जिलों (Districts) में 3 शहरी तथा 3 ग्रामीण स्थानों पर यह ड्राई रन’ (Dry Run) सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक होगा

चंडीगढ़. हरियाणा में कोविड-19 वैक्सीन रोल आउट का सफल कार्यान्वयन सुनिश्चित करने के लिए प्रदेशभर में 7 जनवरी, 2021 को ‘ड्राई रन’ (Dry Run) चलाया जाएगा. सभी जिलों में 3 शहरी तथा 3 ग्रामीण स्थानों पर यह ड्राई रन’ सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक होगा. मुख्य सचिव विजय वर्धन ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी जिला उपायुक्तों के साथ आयोजित कोविड-19 वैक्सीन के लिए गठित स्टेट स्टेयरिंग कमेटी तथा स्टेट टास्क फोर्स (State Task Force) की बैठक में ड्राई रन की समीक्षा की.

हरियाणा के मुख्य सचिव विजय वर्धन ने निर्देश दिए कि ‘ड्राई रन’ के समय केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी सभी दिशा-निर्देशों की अनुपालना सुनिश्चित की जाए. बैठक के दौरान मुख्य सचिव ने ब्रिटेन से आए लोगों में पाए गए कोविड-19 के नए वायरस के संबंध में निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे लोगों की ट्रेसिंग और टेस्टिंग प्राथमिकता से की जाए. साथ ही, इन लोगों के कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग भी सख्ती से की जाए.

उन्होंने निर्देश दिए कि 7 जनवरी, 2021 को चलाए जाने वाले ‘ड्राई रन’ में जिन हेल्थकेयर वर्कर्स को शामिल किया जाना है, उनका संपूर्ण विवरण सॉफ्टवेयर में दर्ज होना अनिवार्य है. बैठक में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव  राजीव अरोड़ा ने बताया कि केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की योजना के अनुसार पंचकूला जिले में 2 जनवरी, 2021 को ‘ड्राई रन’ चलाया गया था. इसी को आगे बढ़ाते हुए अब 7 जनवरी को पूरे प्रदेश में ‘ड्राई रन’ चलाया जाएगा, जिसका उद्देश्य कोविड-19 वैक्सीन रोल आउट की पूरी प्रक्रिया का शुरू से अन्त तक अभ्यास करना है ताकि इसके क्रियान्वयन में आने वाली तमाम चुनौतियों की पहचान की जा सके.

केंद्र सरकार के निर्देशानुसार होगी शुरुआत

उन्होंने  बताया कि बढ़ी हुई क्षमता वाले राज्य के मौजूदा सार्वभौमिक टीकाकरण कार्यक्रम के प्लेटफॉर्म का उपयोग कोविड-19 वैक्सीन लगाने के लिए किया जाएगा. केन्द्र सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार, कोविड-19 वैक्सीन लगाने की शुरुआत साल भर में क्रमिक रूप से कई समूहों से होगी और इसे हेल्थ केयर वर्कर्स से शुरू किया जाएगा.

ऐसे किया जाएगा टीकाकरण

श्रेणी-1 के तहत स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण किया जाएगा. श्रेणी-2 के अन्तर्गत पालिका और सफाई कार्यकर्ता, राज्य और केंद्रीय पुलिस बल, सिविल डिफेंस और सशस्त्र बलों तथा राजस्व अधिकारियों जैसे फ्रंट लाइन कार्यकर्ताओं का टीकाकरण किया जाएगा. श्रेणी-3 के अन्तर्गत 50 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और श्रेणी-4 में 50 वर्ष से कम आयु के ऐसे लोगों का टीकाकरण किया जाएगा जो बीमार हैं.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here