हिमाचल के पूर्व CM शांता कुमार की पत्नी की कोरोना से मौत, टांडा में ली अंतिम सांस

0
22


भाजपा नेता शांता कुमार. (FILE PHOTO)

BJP Leader Shanta Kumar Wife Death: पूर्व सीएम शांता कुमार, उनकी पत्नी और परिवार हाल ही में कोरोना संक्रमित पाए गए थे.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 29, 2020, 8:20 AM IST

धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम शांता कुमार (Shanta Kumar) की पत्नी का कोरोना (Corona Virus) की वजह से निधन हो गया है. पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार की पत्नी संतोष शैलजा कोरोना संक्रमित होने के बाद कांगड़ा (Kangra) के टांडा मेडिकल कॉलेज में भर्ती थी. उन्हें चार दिन पहले कोरोना हो गया था. मंगलवार सुबह संतोष शैलजा ने अंतिम सांस ली.वह 75 साल की थी. वहीं, सीएम जयराम ठाकुर ने निधन पर शोक जताया है.

कांगड़ा के सीएमओ डॉक्टर गुरदर्शन गुप्ता ने शांता की पत्नी के निधन की पुष्टि की है. बता दें कि कांगड़ा में अब तक 7624 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और 184 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है.

शुक्रवार को पूरा परिवार हुआ था संक्रमित

शुक्रवार को शांता कुमार का परिवार भी कोरोना संक्रमित हुआ था. इसके बाद पीएम मोदी ने रविवार सुबह शांता कुमार का फोन पर हाल जाना. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जैसे ही पता चला कि वरिष्‍ठ नेता शांता कुमार कोरोना पॉजिटि‍व पाए गए हैं, उन्‍होंने फोन कर उनका हाल जाना. वहीं, मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी शांता कुमार से बात कर उनका कुशलक्षेम पूछा.

अस्पताल से लिखा था भावुक संदेश

अटल सरकार में मंत्री रहे शांता कुमार परिवार समेत कोरोना पॉजिटिव आते ही डॉ. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज टांडा में दाखिल हो गए थे और अस्‍पताल से उन्‍होंने अपने फेसबुक पेज पर एक भावुक संदेश लिखा था बकौल शांता, ‘ मेरा पूरा परिवार कोरोना संकट के मोड़ पर आ खड़ा हुआ है. मैं ही क्यों आज पूरा विश्व इस अभूतपूर्व त्रासदी से जूझ रहा है. विश्व इतिहास का यह पहला संकट पता नहीं कब टलेगा.’ शांता कुमार ने लिखा है, ‘ मेरी धर्मपत्नी तीन दिन से कोरोना पीड़ित हैं और टांडा अस्पताल में है आज मैं भी यहीं उसके पास आ गया. तीन दिन के बाद मुझे देखकर वह मुस्कुराई सजल नेत्रों से हमने एक दूसरे को देखा. उसका उपचार चल रहा है. कई उपकरण उसकी सेवा में हैं. लगभग एक घंटा उसके पास बैठा. हम दोनों एक दूसरे को देखते रहे, अधिक कह ना सके, लेकिन बिना कहे भी ना जाने कितना कुछ कहते और सुनते रहे.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here