हिमाचल में संदिग्ध नशा तस्करों को तीन महीने के लिए जेल भेजेंगे : DGP

0
20


Drugs in Himachal: संजय कुंडू ने बताया कि पंजाब ने पिट एनडीपीएस के तहत ऐसे लोगों को तीन महीनों तक जेल में बंद करने का प्रावधान कर दिया है जो नशा तस्करी के कारोबार में संलिप्त रहते हैं.

Drugs in Himachal: संजय कुंडू ने बताया कि पंजाब ने पिट एनडीपीएस के तहत ऐसे लोगों को तीन महीनों तक जेल में बंद करने का प्रावधान कर दिया है जो नशा तस्करी के कारोबार में संलिप्त रहते हैं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 30, 2020, 7:27 AM IST

मंडी. हिमाचल सरकार नशा तस्करों (Drug Peddlers) को संदेह के आधार पर जेल भेजने का प्रावधान करने जा रही है. पंजाब की तर्ज पर हिमाचल में भी पिट एनडीपीएस यानी प्रीवेंशन ऑफ इलिशीट ट्रेफिक इन नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सबस्टांसिस का प्रावधान करने जा रही है. यह जानकारी डीजीपी संजय कुंडू (DGP Sanjay Kundu) ने आज मंडी में आयोजित पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए दी.

इससे पहले उन्होंने मंडी रेंज के पुलिस अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और अधिकारियों को और ज्यादा मुस्तैदी के साथ काम करने के निर्देश दिए.

तीन महीनों के लिए गिरफ्तारी
संजय कुंडू ने बताया कि पंजाब ने पिट एनडीपीएस के तहत ऐसे लोगों को तीन महीनों तक जेल में बंद करने का प्रावधान कर दिया है जो नशा तस्करी के कारोबार में संलिप्त रहते हैं. यदि पुलिस को ऐसे किसी तस्कर पर नशा तस्करी का पहले से संदेह हो जाता है तो फिर उसे समय से पहले बीना किसी अपराध के संदेह के आधार पर गिरफ्तार किया जा सकता है. यह गिरफ्तारी तीन महीनों के लिए होगी और इसके लिए गृह सचिव की अध्यक्षता में रिटायर्ड जज की तीन सदसीय कमेटी बनाई जाएगी. गिरफ्तारी से पहले संदेहास्पद व्यक्ति को इस कमेटी के समक्ष पेश किया जाएगा. ऐसा इसलिए किया जाएगा, ताकि जो बड़े नशा तस्कर हैं, उनपर शिकंजा कसा जा सके. उन्होंने बताया कि नशा निवारण की राज्य स्तरीय बैठक में सीएम जयराम ठाकुर ने इस प्रावधान को शामिल करने के निर्देश दे दिए हैं और इस पर गृह विभाग ने कार्य करना शुरू कर दिया है.24 घंटे में पुलिस वैरिफिकेशन

संजय कुंडू ने बताया कि हिमाचल प्रदेश आज देश का इकलौता ऐसा राज्य बन गया है जहां पासपोर्ट के लिए पुलिस वैरिफिकेशन मात्र 24 घंटों में हो रही है। इससे पहले यह प्रक्रिया 11 दिनों में पूरी होती थी. आंध्रा प्रदेश इस प्रक्रिया को 5 दिनों में पूरा करता था लेकिन अब हिमाचल मात्र 24 घंटों में इस प्रक्रिया को पूरा कर रहा है. उन्होंने बताया कि प्रदेश में 100 रिपोर्टिंग पोस्ट बनाई जानी हैं जिनमें से कुछ ने काम करना शुरू कर दिया है, जहां लोगों को अपनी शिकायतें दर्ज करवाने में मदद मिल रही है.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here