3 और चीनी नागरिक नोएडा में बिना वीजा के रहते हुए मिले, ऐसे लगा सुराग

0
32


नोएडा. 3 और चीनी नागरिक (Chinese Citizens) स्पेशल टॉस्क फोर्स, यूपी (UP STF) के हत्थे चढ़े हैं. यह बिना वीजा के नोएडा में रह रहे थे. एसटीएफ ने तीनों को अदालत में पेशकर जेल भेज दिया है. जिस फैक्ट्री से तीनों चीनी नागरिकों की गिरफ्तारी हुई है वहां से एसटीएफ को ढाई किलो वजन की चिप भी मिली हैं. ऐसी संभावना है कि इसी तरह की चिप में भारतीयों का डाटा (Data) चीन भेजा जा रहा था. इससे पहले दो और चीनी नागरिकों को नेपाल बॉर्डर (Nepal Border) पर भागते वक्त पकड़ा था. इसी घटना के बाद से नोएडा में चीनी नागरिकों के एक बड़े नेटवर्क का पता चला है. नोएडा (Noida) में एक चाइनीज क्लब से भी कुछ नॉर्थ की रहने वालीं कुछ लड़कियों की गिरफ्तारी हुई है.

चीन भागते वक्त पकड़े थे लू लैंग और यू हेलंग

नेपाल बार्डर के रास्ते भारत से चीन भागते वक्त 11 जून को जासूसी के शक में चीनी नागरिक लू लैंग और यू हेलंग को गिरफ्तार किया गया था. इस घटना के बाद ही नोएडा में चाइनीज क्लब की मैनेजर असम निवासी एलन समेत पांच आरोपियों को और एसटीएफ गिरफ्तार किया था. बाद में रिमांड पर लेकर की गई पूछताछ में लू लैंग और यू हेलंग की निशानदेही पर एसटीएफ ने नोएडा से कुछ सामान और कागजात बरामद किए थे.

अभी जिन तीन चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया है उसमे  रायन उर्फ रेन चाओ निवासी हेइलोंगजियांग. इसका वीजा 31 अगस्त 2020 खत्म हो गया था. जेंग हाओझे निवासी गुआंडोंज प्रांत का वीजा 8 मार्च 2020 को खत्म हो गया था. और जेंगे डे निवासी गुआंडोंज प्रांत का वीजा पुलिस बरामद नहीं कर पाई है.

अब एक कॉल पर फ्री में उठेगा कंस्ट्रक्शन एंड डिमोलिशन वेस्ट, जानें प्लान

जांच एजेंसी को मिला फरार जॉनसन का सुराग

सूत्रों के अनुसार, मामले की जांच में एसटीएफ के अलावा प्रदेश और राष्ट्रीय स्तर की जांच व खुफिया एजेंसियां जुटी हुई हैं. इनमें एक बड़ी एजेंसी के अधिकारियों को फरार आरोपी जॉनसन (रवि नटवरलाल और जू फाई का साझेदार) के संबंध में ठोस सुराग हाथ लगे हैं. ऐसे में जांच एजेंसी आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास में लगी है और कभी भी गिरफ्तारी हो सकती है.

फैक्टरी के जरिये होने वाले स्क्रैप के बड़े स्तर पर खरीद-फरोख्त के कारोबार और अवैध रूप से प्रोसेसिंग चिप आदि चीन भेजने के मामले में जॉनसन की बड़ी भूमिका बताई जा रही है. इन्हीं चिप से लाखों भारतीयों का डाटा चीन भेजने आशंका है. जॉनसन ने ही ग्रेटर नोएडा के घरबरा में संचालित हुए चाइनीज क्लब का अनुबंध एक नेता के बेटे से किया था.

10 जून तक नोएडा की जेपी ग्रींस में रहे थे लू लैंग और यूं हेलंग

सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) ने 11 जून को बिहार, सीतामढ़ी के रास्ते भारत-नेपाल बॉर्डर को पार कर रहे दो चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया था. दोनों आरोपियों ने अपना नाम लू लैंग (30) और यूं हेलंग (34) बताया है. दोनों ने एसएसबी को पूछताछ में बताया था कि वो 15 दिन तक नोएडा में रहे थे. हालांकि बाद में नोएडा पुलिस ने भी इसकी पुष्टी कर दी थी.

इसी के चलते नोएडा में पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई भी हुई थी. यह दोनों लोग जेपी ग्रींस सोसाइटी में लगे सीसीटीवी फुटेज में भी पाए गए थे. साथ ही दोनों आरोपियों ने अपने जिस दोस्त कैरी के फ्लैट पर रुकने की बात कही थी. अवैध रूप से चीनी नागरिकों के नोएडा में रहने की बात सामने आने पर ही नोएडा पुलिस अलर्ट हुई थी.

Tags: China, Noida Police, UP STF



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here