31 जनवरी तक यूके से आने वाले हर यात्री को रहना होगा 14 दिन क्वॉरंटाइन

0
18


31 जनवरी तक यूके से आनेवाले हर यात्री को 14 दिन क्वॉरंटाइन रहना होगा. (सांकेतिक फोटो)

अब 31 जनवरी तक जो भी यात्री यूके से दिल्ली आएंगे, उन्हें 14 दिनों तक क्वॉरंटाइन (quarantine) रहना होगा. दिल्ली सरकार ने यह फैसला कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लिया है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 14, 2021, 9:30 PM IST

नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi government) ने यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) से दिल्ली आने वाले मुसाफिरों के लिए जारी अपने निर्देशों में संशोधन किया है. अब 31 जनवरी तक जो भी यात्री यूके से दिल्ली आएंगे, उन्हें 14 दिनों तक क्वॉरंटाइन (quarantine) रहना होगा. दिल्ली सरकार ने यह फैसला कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लिया है. आपको याद दिला दें कि केंद्र सरकार ने यूके आने-जाने वाली फ्लाइटों पर एक हफ्ते की रोक लगा दी थी और उसके बाद फिर वहां से हवाई यात्रा की इजाजत दी गई. पहली ही फ्लाइट में आए मुसाफिरों में तीन यात्री नए स्ट्रेन (New Strain) से संक्रमित मिले थे. अब केजरीवाल सरकार ने संक्रमण को रोकने के लिहाज से यूके से आने वाले हर यात्रियों को अनिवार्य रूप से 14 दिनों के क्वॉरंटाइन में भेजने की तारीख 31 जनवरी तक बढ़ा दी है.

आपको बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण के मिले नए प्रकार सार्स-COV-2 से भारत में संक्रमितों की संख्‍या बढ़कर 109 पर जा पहुंची है. गुरुवार को स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने यह जानकारी दी. बुधवार को यह संख्‍या 102 थी, जबकि 11 जनवरी तक इस स्‍ट्रेन से संक्रमितों की संख्‍या 96 थी. बुधवार को मंत्रालय ने कहा था कि अन्‍य नमूनों की जांच जीनोम सीक्‍वेंस से हो रही है. इसके साथ ही स्थिति पर सावधानी से निगाह रखी गई है. राज्‍यों को लगातार सर्वे, कंटेनमेंट, टेस्टिंग और नमूनों को आईएनएसएसीओजी (इंडियन सार्स-COV-2 जीनोमिक्‍स कनसोर्टियम) लैब्‍स में भेजने को कहा जा रहा है.

इन देशों से आए लोगों में पाया गया संक्रमण स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस के नए वैरिएंट से जिन लोगों को पॉजिटिव पाया गया है, उन्‍हें आइसोलेशन में रखा जा रहा है. चूंकि नया वायरस अधिक संक्रामक है, इसलिए हर व्‍यक्ति को एक कमरे में आइसोलेट किया गया है और संबंधित राज्‍य सरकारें उन्‍हें जरूरी स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी सुविधाएं दे रही हैं. ब्रिटेन वाले नए म्यूटैन्ट स्ट्रेन के बारे में कई देशों ने अपने यहां संक्रमण होने की पुष्टि की है जिनमें डेनमार्क, नीदरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, इटली, स्वीडन, फ्रांस, स्पेन, स्विट्जरलैंड, जर्मनी, कनाडा, जापान, लेबनान और सिंगापुर शामिल हैं.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here