34 मंदिरों के फूलों से नोएडा में बनाई जाएंगी अगरबत्ती, जानें प्लान

0
44


नोएडा. मंदिरों से निकले फूल और दूसरी चीजें अब कूड़ेदान में नहीं जाएंगी. फूलों और दूसरे सामान का इस्तेमाल किया जाएगा. फूलों से अगरबत्ती तो दूसरे सामान से खाद बनाई जाएगी. फूल इकट्ठा करने के लिए नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) ने मंदिरों की लिस्ट तैयार कर ली है. अथॉरिटी की इस पहल से फूलों का इस्तेमाल भी हो जाएगा और कूड़ेदान में जाने से आस्था को ठेक भी नहीं पहुंचेगी. मंदिरों से फूल कलेक्शन के लिए गाड़ियों को अथॉरिटी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना कर दिया है. इन्हें फ्लोवीर वेस्ट वाहन नाम दिया गया है. गौशाला (Cow Shelter) की सैकड़ों गाय (Cow) चारे के लिए परेशान न हों, उनकी देखभाल अच्छे से हो इसके लिए भी नोएडा अथॉरिटी ने एक प्लान बनाया है. नोएडा की दो गौशालाओं में बंद गायों का दूध (Cow Milk) अब खुले बाजार में बेचा जाएगा. इसके लिए मदर डेयरी (Mother Dairy) और पराग डेयरी के साथ अथॉरिटी की बातचीत चल रही है.

नोएडा के वो 34 मंदिर जहां से फूल-पत्ते जमा किए जाएंगे

नोएडा अथॉरिटी के मुताबिक श्री लाल मंदिर, शिव मंदिर, दुर्गा श्री हनुमान मंदिर, श्री साईं बाबा मंदिर, शिव शक्ति मंदिर सेक्टर-15, सीता राम मंदिर, ओम शिव मंदिर, श्री सनातन धर्म मंदिर, हनुमान मंदिर, शिव मंदिर, शिव शक्ति मंदिर, श्री हनुमान मंदिर, श्री शिव नारायण सनातन धर्म, श्री राधा कृष्ण मंदिर, श्री हुनमन मंदिर, शिव शक्ति मंदिर, श्री सनातन शिव मंदिर से वेस्ट कलेक्ट किया जाएगा.

इसके अलावा श्री हनुमान मंदिर, श्री राम मंदिर, प्राचीन शनि धाम मंदिर, श्री सनातन धर्म मंदिर, प्राचीन शिव काली मंदिर, प्राचीन शक्ति मंदिर, भूमिया माता मंदिर, शिव मंदिर छलेरा, श्री प्राचीन शनि मंदिर, श्री सनातन धर्म मंदिर, प्राचीन शिव मंदिर, माता रानी मंदिर, प्राचीन मां मंदिर, महा शक्ति धाम मंदिर, शिव शक्ति दुर्गा मंदिर, माँ भगवती दुर्गा मंदिर और संस्कृति सेवा समिति मंदिर से फूल-फल और पत्ते समेत सभी प्रकार का वेस्ट उठाया जाएगा.

15 से 20 दिन में आ सकती है ग्रेटर नोएडा वेस्ट मेट्रो की मंजूरी, जानें प्लान

मंदिर के फूलों से बनाई जाएंगी अगरबत्ती

मंदिर से निकलने वाले फूलों और दूसरी सामग्री का निस्तारण कैसे और कहां किया जाए यह हमेशा से एक बड़ी समस्या बनी हुई है. क्योंकि सामान्य कूड़े वाली गाड़ी में भी मंदिर से निकले फूलों को नहीं डाला जा सकता है. इसी के चलते नोएडा अथॉरिटी ने एक प्लान तैयार किया है. प्लान के तहत नोएडा के मंदिरों से निकलने वाले फूल और दूसरी सामग्री लेने के लिए अलग से गाड़ियां लगाई जाएंगी. यह गाड़ियां सिर्फ नोएडा के 34 मंदिरों से फूल और दूसरी सामग्री का कूड़ा उठाएंगी. मंदिरों की लिस्ट नोएडा अथॉरिटी ने तैयार कर ली है.

पहले यह समस्या रहती थी कि मंदिरों से निकलने वाले कूड़े को कहां पर रखा जाए. लेकिन अब इस परेशानी का हल भी निकाल लिया गया है. मंदिरों से निकलने वाले कूड़े को सेक्टर-34 में नारी निकेतन के पास जमा किया जाएगा. यहीं पर कूड़े की प्रोससिंग की जाएगी. जो कूड़ा अगरबत्ती बनाने लायक होगा तो उससे अगरबत्ती बनाई जाएगी. वहीं जो कूड़ा अगरबत्ती बनाने लायक नहीं होगा उससे खाद बनाई जाएगी.

Tags: Cow, Noida Authority, Temple



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here