50 हजार का इनामी नक्सली प्रेमिका संग नोएडा से गिरफ्तार, दोनों के खिलाफ दर्ज हैं दर्जनों FIR

0
29


मुंगेर. बिहार पुलिस की एसटीएफ ने माओवादी संगठन के मुंगेर-जमुई-लखीसराय के एरिया कमांडर और 50 हजार के इनामी हार्डकोर नक्सली बीडीओ कोड़ो को उसकी प्रेमिका और हार्डकोर नक्सली पोली कुमारी के साथ उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा स्थित गौतमबुद्ध नगर से गिरफ्तार किया है. दोनों के खिलाफ नक्सली वारदात सहित हत्या के दर्जनों मामले थानों में दर्ज हैं. गिरफ्तार नक्सली मुंगेर जिले के लड़ैयाटांड थाना क्षेत्र के पैसरा गांव का रहने वाला है जबकि पोली लखीसराय के बरमसिया की रहने वाली है.

पुलिस अधीक्षक जगुनाथरेड्डी जलारेड्डी ने बताया कि सूचना मिली थी कि 50 हजार का इनामी नक्सली बीडीओ कोड़ा महिला नक्सली सदस्य पोली कुमारी के साथ यूपी के बिसरख थाना क्षेत्र के गौतमबुद्ध नगर में छिपा हुआ है. जिसके बाद जमालपुर एसटीएफ और मुंगेर पुलिस के सहयोग से 9 जुलाई को वहा छापेमारी की गयी. जहां से मुंगेर जिले के लड़ैयाटांड थाना क्षेत्र के पैसरा निवासी बीडीओ कोड़ा उर्फ कारेलाल कोड़ा एवं लखीसराय जिले के कजरा थाना क्षेत्र के बरमसिया निवासी पोली कुमार को गिरफ्तारी किया गया.

गिरफ्तार नक्सली बीडीओ कोड़ा उर्फ कारेलाल कोड़ा माओवादी संगठन के गुरिल्ला दस्ता का सदस्य है और उसने कई बड़ी नक्सली कार्रवाई को अंजाम दिया है. उसके दस्ता के साथ एक महिला दस्ता भी चलता था, जिसमें पोली कुमारी शामिल थी. इसी दौरान दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ा लेकिन नक्सली संगठन से जुड़े दोनों परिवार को बीच खटास बढ़ गयी. कहा जाता है कि पोली बालेश्वर कोड़ा की रिश्तेदार है, जिसने हाल ही में पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया. एसपी ने बताया कि हाल के दिनों में पुलिस की कार्रवाई के कारण कई नक्सलियों ने जहां सरेंडर कर दिया वहीं कई नक्सलियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

पुलिस की इस कार्रवाई के बाद पोली ने बीडीओ कोड़ा पर सरेंडर करने का दबाव बनाया लेकिन बाद में निर्णय लिया कि बाहर जाकर कुछ दिनों तक हमलोग काम कर कुछ पैसा जमा करते हैं, इसके बाद सरेंडर करेंगे. अचानक 15-20 दिन पूर्व दोनों संगठन को छोड़ कर फरार हो गए और नोएडा पहुंच गए जहां से दोनों को गिरफ्तार किया गया. 15-20 दिन पूर्व ही पोली के साथ भागे बीडीओ पर मुंगेर, जमुई, लखीसराय जिले के विभिन्न थानों में दो दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं. मुंगेर के बरियारपुर, लड़ैयाटांड, धरहरा, खड़गपुर में जहां 12 मामलों में वह फरार चल रहा है वहीं लखीसराय के पीरी बाजार, कजरा थाना और जमुई के खैरा व लक्ष्मीपुर थाना में भी मामला दर्ज है. जिसका रिकार्ड खोजा जा रहा है.

पोली कुमारी पर भी आधा दर्जन से अधिक मामले विभिन्न थानों में दर्ज है. उसके खिलाफ लड़ैयाटांड, पीरीबाजार एवं चाचन थाना में मामला दर्ज है. एसपी ने बताया कि बीडीओ कोड़ा नक्सली संगठन के गुरिल्ला दस्ता का सदस्य है. वह एसएलआर हथियार का प्रयोग करता है. 2 फरवरी 2022 को पीरीबाजार थाना क्षेत्र के नक्सल प्रभावित एरिया में पुलिस-नक्सली एनकाउंटर हुआ था, जिसमें दो नक्सली जमुई जिला के बरहट थाना अंतर्गत मुसहरी टांड़ निवासी वीरेंद्र कोड़ा और पीरीबाजार थाना क्षेत्र के हदहदिया गांव निवासी जगदीश कोड़ा की मौत हो गयी थी. जिसमें बीडीओ कोड़ा बच कर निकल गया था.

अक्टूबर 2021 को लखीसराय के पीरी बाजार थाना क्षेत्र के चौखरा गांव निवासी डीलर भागवत महतो के पुत्र दीपक का अपहरण कर लिया. इस मामले में भी पुलिस के साथ नक्सलियों की मुठभेड़ हुई थी जिसमें प्रमोद कोड़ा नामक नक्सली मारा गया था. इस कार्रवाई में भी बीडीओ कोड़ा ने मुख्य भूमिका निभाई थी. दोनों प्रेमी-प्रेमिका नक्सलियों की गिरफ्तारी को पुलिस बहुत ही अहम मान रही है.

Tags: Bihar News, Munger news, Naxalites news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here