6 लाख करोड़ का हो सकता है योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल का बजट, वित्त विभाग अंतिम रूप देने में जुटा

0
10


लखनऊ. योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट करीब छह लाख करोड़ रुपए का हो सकता है. वित्त विभाग के अफसर योगी सरकार के बजट को अंतिम रूप देने में जुटे हैं. जानकारी के मुताबिक बजट में बीजेपी के चुनावी संकल्प पत्र में किये वादों के साथ ही कृषि, लाभार्थीपरक योजनाएं, युवा, रोज़गार ढांचागत सुविधाएं और केंद्रांश पर फोकस रहेगा. वित्त विभाग योगी सरकार-2 के 2022-23 के बजट को अंतिम रूप देने में जुटा है. बजट में 1.65 लाख करोड़ रुपए सरकारी विभाग एवं उपक्रमों के कर्मचारियों के वेतन के लिए निर्धारित किया जा सकता है. शेष राशि विकास और अन्य कल्याणकारी योजनाओं पर खर्च की जाएगी.

इसके अलावा बजट में पीडब्ल्यूडी के हिस्से में 30 हजार करोड़ रुपए आने की उम्मीद जताई जा रही है. बजट में नए विश्वविद्यालय और आईटीआई की स्थापना पर भी फोकस दिखेगा. उम्मीद जतायी जा रही है कि ओडीओपी के बजट में भी उल्लेखनीय वृद्धि की संभावना है. इसी तरह सिंचाई विभाग को बजट में 20 हजार करोड़ से ज्यादा रुपये मिलने  की उम्मीद है. इतना ही नहीं सरकार किसानों को मुफ्त बिजली योजना के लिए भी बजट में प्रावधान कर सकती है.

टमाटर और आलू के लिए MSP की व्यवस्था 

योगी सरकार अपने दूसरे  कार्यकाल के पहले बजट में टमाटर, आलू और प्याज जैसी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी की भी व्यवस्था करेगी. इसके अलावा छुट्टा पशुओं से किसानों को निजात दिलाने के लिए भी सरकार बजट में प्रावधान कर सकती है. इसके अलावा प्राकृतिक खेती, मेगा फ़ूड पार्क की स्थापना पर भी फोकस रहेगा ताकि कृषि उपज की मांग में स्थायी वृद्धि हो सके.

(रिपोर्ट: संकेत मिश्रा)

Tags: CM Yogi Adityanath, UP latest news, Yogi government



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here